अब शास्त्री और कोहली को देना होगा क्रिकेटरों की पत्नियों और गर्लफ्रेंड के दौरों का ब्यौरा

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) का कामकाज देखने के लिए सर्वोच्च अदालत द्वारा गठित प्रशासकों की समिति (COA) ने एक नया फैसला लिया है. सीओए समिति ने भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली से विदेश दौरों के दौरान टीम के सदस्यों की पत्नियों और प्रेमिकाओं की यात्राओं को लेकर ब्यौरा मांगा है. इस फैसले से BCCI और लोढ़ा पैनल, दोनों ही हैरान हैं.

दरअसल टीम के सदस्यों की पत्नियों और गर्लफ्रेंड्स को विदेश यात्रा की अनुमति देने या ना देना कोच और कप्तान के हाथों में है. ऐसा पहली बार है, जब ये अधिकार कोच और कप्तान को दिया गया क्योंकि इससे पहले ये तय करना बीसीसीआई के हाथ में था.

सीओए के इस फैसले पर पूर्व चीफ जस्टिस आरएम लोढ़ा ने कहा कि इस मामले में बोर्ड के लोकपाल डीके जैन को ही कोई फैसला लेना चाहिए. लोकपाल को अब लोढ़ा पैनल के प्रस्तावित नए संविधान के खिलाफ उठने वाले कदमों को रोकना चाहिए.

वहीं इस मामले को लेकर बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि पत्नी और प्रेमिकाओं के दौरों के बारे में कप्तान और कोच को फैसला करने का अधिकार देना स्पष्ट रूप से हितों का टकराव है. साथ ही इससे टीम के प्रदर्शन पर भी असर पड़ सकता है.

Leave a Comment

%d bloggers like this: