एमपीः CM शिवराज जल्द करेंगे मंत्रिमंडल का विस्तार, केंद्र से हरी झंडी लेने दिल्ली पहुंचे

Shivraj Singh Chouhan
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

भोपाल, एमपी।

मध्यप्रदेश में लम्बे समय से मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें लग रही हैं, लेकिन अब जल्द ही इन अटकलों पर विराम लगने वाला है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को दोपहर बाद विशेष विमान से दिल्ली रवाना हो गए हैं.

शिवराज के साथ बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत भी दिल्ली गए हैं. वे वहां मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर केन्द्रीय नेतृत्व से विचार-विमर्श करेंगे. बताया जा रहा है कि सोमवार शाम को वे दिल्ली से वापस आएंगे.

जानकारी के मुताबिक 30 जून को सीएम शिवराज अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर नये मंत्रियों को शपथ दिला सकते हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को दोपहर बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत के साथ विशेष विमान से दिल्ली रवाना हुए.

पार्टी सूत्रों के अनुसार दिल्ली पहुंचने के बाद आज देर शाम से ही उनका पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात का सिलसिला शुरू हो जाएगा और सोमवार शाम तक सभी वरिष्ठ नेताओं से मुकालात करने के बाद वे वापस भोपाल लौट आएंगे.

बता दें कि तीन दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वयं मीडिया से कहा था कि वे जल्द ही अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे. इसके लिए हमाने पूरी तैयारी कर ली है. इस संबंध में केन्द्रीय नेतृत्व से विचार-विमर्श होना बाकी है. उनका निर्देश मिलते ही मंत्रियों को शपथ दिला दी जाएगी. इसी सिलसिले में वे दिल्ली रवाना हुए हैं.

गौरतलब है कि कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार गिरने के बाद 23 जून को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना संकट के बीच रिकॉर्ड 29 दिन अकेले सरकार चलाई. इसके बाद उन्होंने अपना मिनी मंत्रिमडल गठित किया, जिसमें पांच मंत्रियों को शामिल किया गया.

मीडिया में मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें काफी पहले से लग रही हैं, लेकिन अब इस बहुप्रतीक्षित मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलों पर विराम लगने वाला है. इधर, विधानसभा का मानसून सत्र भी आगामी 20 जुलाई से शुरू होने जा रहा है. ऐसे में मंत्रिमंडल का विस्तार जरूरी है.

वहीं, मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टण्डन की इन दिनों तबीयत खराब है और लखनऊ के मेदांता हास्पिटल में उनका उपचार चल रहा है. वे वहां वेटिंलेटर पर हैं. हालांकि, उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है, लेकिन उनकी अस्वस्थता के चलते मंत्रिमंडल विस्तार के लिए राज्य में कार्यवाहन राज्यपाल की नियुक्ति की जा सकती है.

बताया जा रहा है कि इसी सप्ताह छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुइया उइके को मध्यप्रदेश में कार्यवाहन राज्यपाल बनाया जा सकता है. विधानसभा में सदस्यों की संख्या के मान से राज्य में अधिकतम 35 मंत्री हो सकते हैं, जिनमें मुख्यमंत्री भी शामिल हैं. यानी सीएम शिवराज अधिकतम 29 और लोगों को मंत्री बना सकते हैं.

इसमें वरिष्ठ बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की राय को तवज्जो और उनके समर्थकों को भी पर्याप्त प्रतिनिधित्व दिए जाने की पूरी संभावना है, क्योंकि उनके कांग्रेस छोडक़र आने के बाद भी राज्य में सत्ता परिवर्तन हुआ है. ऐसे में केन्द्रीय नेतृत्व से चर्चा कर मंत्रियों के नाम पर सहमति बनाने के प्रयास होंगे.

हिन्दुस्थान समाचार/मुकेश