पानी बचाने के लिए CM Sonowal ने लोगों से की अपील

गुवाहाटी, असम।

असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल (Sarbanand Sonowal) ने समाज के सभी वर्गों के लोगों का आह्वान करते हुए अहोम साम्राज्य के अनुरूप वर्षा जल संचयन में योगदान देते हुए इसे एक जन आंदोलन बनाने की अपील की.

शिवसागर में सोमवार को सिबसागर कॉमर्स कॉलेज के स्वर्ण जयंती समारोह के समापन समारोह में बोलते हुए मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि पेयजल के बढ़ते संकट को ध्यान में रखते हुए वर्षा जल संचयन समाज के लिए एक अच्छा प्रयास होगा. 

उन्होंने कहा कि वर्षा जल संचयन यदि वैज्ञानिक रूप से किया जाए तो असम की सदाबहार समृद्धि को बरकरार रखा जा सकता है. सोनोवाल ने छात्र समुदाय से इस पहलू पर कदम उठाने का आग्रह किया.

उन्होंने सिबसागर कॉमर्स कॉलेज के शिक्षकों से अपने छात्रों में ज्ञान के बीज को प्रत्यारोपित करने के लिए कहा और उन्हें सामाजिक प्रतिबद्धता के मजबूत आधार के साथ पेशेवर दुनिया में कदम रखने के लिए तैयार रहने का आह्वान किया.

सोनोवाल ने यह भी कहा कि चूंकि भारत के 65 प्रतिशत लोग 35 वर्ष से कम उम्र के हैं, इसलिए देश युवाओं के संसाधनों से भरपूर है. इसलिए, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के युवाओं को स्किलिंग और री-स्किलिंग करने के लिए कौशल भारत कार्यक्रम की घोषणा की. 

इसे देखते हुए, असम सरकार ने एक कौशल विकास विभाग स्थापित किया है और राज्य में 240 से अधिक कौशल केंद्र स्थापित किए हैं. यह प्रक्रिया लगातार जारी है.

छात्रों को प्रेरित करते हुए सोनोवाल ने कहा कि उनकी सरकार परिवहन के माध्यम से राज्य को बदलने के लिए कई कदम उठा रही है. 

उन्होंने यह भी कहा कि उड़ान अंतर्राष्ट्रीय योजना के तहत, गुवाहाटी और ढाका के बीच सीधी उड़ान सेवा को सोमवार को हरी झंडी दिखाने का भी मुख्यमंत्री ने जिक्र किया. 

उन्होंने बताया कि प्रारंभिक कार्य गुवाहाटी और बैंकॉक, गुवाहाटी और ब्रुनेई, गुवाहाटी और हनोई के बीच सीधी उड़ानें शुरू करने के लिए मंजूरी दे दी गई है. इसके अलावा, जल, जमीन और रेल परिवहन पर महत्वपूर्ण उपलब्धि भी हासिल करने की बात पर प्रकाश डाला.

एक्ट ईस्ट पॉलिसी के तहत, मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि गुवाहाटी को आसियान और बीबीएन देशों का प्रवेश द्वार बनाने के लिए गहन कार्य चल रहे हैं. 

उन्होंने बताया कि एडवांटेज असम: ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के बाद पहले साल में असम में कुल समझौतों में से 50 हजार करोड़ रुपये से अधिक का निवेश हुआ है, जिसमें 72 हजार करोड़ रुपये के निवेश का वादा किया गया था.

मुख्यमंत्री सोनोवाल ने सिबसागर कॉमर्स कॉलेज के शिक्षकों को भी मानव संसाधन बनाने के अपने अविश्वसनीय मिशन को जारी रखने के लिए कहा. क्योंकि, राज्य सरकार कॉलेज के बुनियादी ढांचे के विकास के लिए प्रतिबद्ध है.

इससे पहले महमोरा के विधायक जोगेन महन ने इस अवसर पर बोलते हुए कॉलेज को दान के रूप में 5 लाख रुपये देने की घोषणा की. इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ सौम्य ज्योति महंत ने भी अपने विचार व्यक्त किए.

हिन्दुस्थान समाचार / अरविंद

Leave a Comment

%d bloggers like this: