Naag Panchami 2020: 25 जुलाई को मनाई जाएगी नाग पंचमी, जानें शुभ मुहूर्त और महत्व

(फाईल फोटो)
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

हमारे देश में नाग पंचमी का विशेष महत्व है. इस दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है. नाग पंचमी का त्योहार श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है बता दे कि नाग पंचमी 25 जुलाई को मनाई जााएगी.

वैसे तो हिंदू धर्म में कई तरह के पर्व मनाए जाते हैं जैसे तीज, वसंत पंचमी, करवाचौथ,शिवरात्रि और नाग पंचमी इन सभी त्योहारों की हिंदू धर्म में बहुत मान्यता है.

शनिवार को नाग पंचमी का त्योहार है. इस दिन लोग भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए व्रत रखते हैं और भगवान शिव के गले में विराजे नाग की प्रतिमा या शिवलिंग पर दूध चढ़ाते हैं.

इस दिन कुछ मंदिरों में नाग देवता को भी देखा जाता है सपेरे इस दिन नागों को मंदिरों में लेकर आते हैं और पूरी सावधानियों के साथ नाग देवता की पूजा की जाती है.

शिव के गले में विराजे नाग का नाम है वासुकि

इस दिन भगवान शिव के गले में विराजे नाग को दूध पिलाया जाता है. भगवान शिव के गले में जो नाग रहता है उसका नाम वासुकि है.

नाग पंचमी पूजा मुहूर्त

नाग पंचमी पूजा मुहूर्त 05:38:42 से 08:22:11 तक है
कुल अवधि : 2 घंटे 43 मिनट है
पंचमी तिथि समाप्ति – 12:01 (25 जुलाई 2020)

नाग पंचमी के देव

नाग पंचमी पूजा के आठ नाग देव माने गए हैं अनन्त, वासुकि, पद्म, महापद्म, तक्षक, कुलीर, कर्कट और शंख नामक अष्टनागों की पूजा की जाती है.

नाग पंचमी व्रत कैसे करें

नाग पंचमी के व्रत करने के लिए चतुर्थी के दिन एक बार भोजन करें तथा पंचमी के दिन उपवास करके शाम को व्रत खोलें.

नाग देवता की पूजा कैसे करें
इस दिन विशेष तरह की पूजा की जाती है. शिवलिंग या नाग की प्रतिमा पर हल्दी, रोली, चावल और फूल चढ़ाएं. उसके बाद कच्चा दूध, घी, चीनी मिलाकर अर्पित करें. फिर आरती उतारें. आरती के बाद ऊँ नम: शिवाय, ऊँ महेश्वराय नम:, ऊँ सांब सदाशिवाय नम:, ऊँ रुद्राय नम: आदि मंत्रों का जाप करें