स्वच्छ सर्वेक्षण-2020: जयपुर शहर में रात को भी उठाया जायेगा कचरा

जयपुर में स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 चल रहा है और नगर निगम भी जयपुर को नम्बर वन क्लीन सिटी का खिताब दिलाने के लिये रोज नयी व्यवस्थायें कर रहा है. नगर निगम जयपुर ग्रेटर एवं जयपुर हैरिटेज प्रशासक विजयपाल सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि शहर में ओपन डिपो तत्काल प्रभाव से उठने चाहिए.

उन्होंने निर्देश दिये हैं कि ज्यादा से ज्यादा ओपन डिपो रात को ही साफ कर दिये जाये. सुबह के समय वहां कचरा इकट्ठा नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा है कि गारबेज फ्री सिटी (जीएफसी) की रेटिग में जयपुर को उच्चतम रेटिग मिलनी चाहिए. गौरतलब है कि स्वच्छ सर्वेक्षण में 1 हजार नम्बर जीएफसी रेटिंग के है. वर्तमान में जयपुर की रेटिंग 2 स्टार है जिसे उच्चतम प्राप्त करने के लिये निगम ने कमर कस ली है.

जीएफसी रेटिग के लिये नागरिक सहयोग करें

उन्होंने सभी शहर वासियों से अपील की है कि कचरा पात्र और डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण वाली गाड़ी में ही कचरा डाले. थडी़, ठेला एवं अन्य व्यवसायिक गतिविधियां चलाने वाले लोग अपने प्रतिष्ठानों के आस-पास कचरा नहीं फैलने दे. कचरा नहीं फैले इसके लिये सभी डस्टबिन का प्रयोग करें.

ओडीएफ प्लस प्लस के लिये अगले माह आयेगी टीम

स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत जीएफसी की उच्चतम रेटिग एवं ओडीएफ प्लस प्लस श्रेणी के लिये 1500 नम्बर निर्धारित है. इसमें से 1 हजार नम्बर जीएफसी रेटिग के एवं 500 नम्बर ओडीएफ प्लस प्लस के है.

जयपुर शहर को ओडीएफ प्लस प्लस का दर्जा मिले इसके लिये नागरिक भी सहयोग करें. गौरतलब है कि ओडीएफ प्लस प्लस रेटिग के लिये दिसम्बर में टीम जयपुर आयेगी. प्रशासक विजयपाल सिंह ने कहा है कि सभी नागरिक शौचालय का प्रयोग करे. खुले में मल-मूत्र त्याग नहीं करें.

सबसे बड़ी भूमिका नागरिकों की, जागरूकता के लिये पूरे माह चलेगे कार्यक्रम


शहर को क्लीन सिटी का दर्जा दिलाने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका जयपुर के नागरिकों की होगी. आमजन में स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करने एवं स्वच्छ सर्वेक्षण में आमजन की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिये पूरे दिसम्बर माह विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जाये.

इसके तहत स्वच्छ सर्वेक्षण से जुडे अधिकारियों, स्कूल, कोचिंग, काॅलेज, स्वयं सेवी संस्थाओं, होटल, रेस्टोरेन्ट, हाॅस्पिटल, व्यापार मण्डल, नागरिक विकास समिति, सिनेमा हाॅल संचालक आदि के लिये वर्कशॉप आयोजित की जायेगी. इसी प्रकार जोन स्तर पर सार्वजनिक पार्कों, माॅल्स, सर्किल आदि में स्वच्छता जागरूकता सम्बन्धी कार्यक्रम आयोजित किये जायेगे.

गंदगी फैलाने वालों पर लगेगा जुर्माना

गंदगी फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जायेगी. किसी भी व्यवसायिक प्रतिष्ठान के आस-पास गंदगी मिलने पर उस पर जुर्माना लगाया जायेगा. प्रशासक विजयपाल सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि खुले में कचरा डालने वालों पर जुर्माना लगाया जाये.

दो दिसम्बर को स्कूल,काॅलेज संचालकों की कार्यशाला

स्कूल,काॅलेज एवं कोचिंग संचालकों के लिये कार्यशाला का आयोजन दो दिसम्बर को किया जायेगा. नगर निगम के ई.सी हाॅल में दोपहर 12 बजे से आयोजित इस कार्यशाला में उपस्थित प्रतिनिधियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया जायेगा ताकि वे अपने संस्थानों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के माध्यम से स्वच्छता के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने में निगम का सहयोग करें.


हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/संदीप

Leave a Reply