हांगकांग के मुद्दे पर चीन ने दी अमेरिका को चेतावनी, ‘ड्रैगन’ के खिलाफ US ने भी खोला मोर्चा

नई दिल्ली. चीन (China) ने मंगलवार को अमेरिका को नए हांगकांग (Hong-Kong) सुरक्षा कानून को लेकर उस पर प्रतिबंध लगाने के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा कि बीजिंग अपने ‘आवश्यक जवाबी उपायों’ के साथ पूरी तरह तैयार है.

वैश्विक आक्रोश और हांगकांग में नाराजगी के बीच चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने मंगलवार को उस विवादित सुरक्षा कानून पर हस्ताक्षर कर दिए जोकि हांगकांग के संबंध में बीजिंग को नई शक्तियां प्रदान करता है. इस कानून के तहत चीनी सुरक्षा बलों की हांगकांग में मौजूदगी सुनिश्चित हो सकेगी.

मंगलवार को चीनी संसद की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) की 162 सदस्यीय स्थायी समिति ने सर्वसम्मति से हांगकांग के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को मंजूरी दे दी. इसे मंजूरी दिए जाने के तुरंत बाद चिनफिंग ने इस कानून पर हस्ताक्षर किए जिसके साथ ही कानून लागू करने योग्य हो गया.

वहीं भारत (India) के बाद अब अमेरिका ने चीन को बड़ा झटका दिया है. अमेरिका ने चीन के हांगकांग को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लाए जाने की घोषणा के बाद अब अमेरिकी मूल अत्याधुनिक रक्षा उपकरणों और तकनीक के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है.

एक बयान में अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो (Mike Pompeo) ने कहा कि बीजिंग के अपने नए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर आगे बढ़ने के मद्देनजर वाशिंगटन अमेरिका में निर्मित रक्षा उपकरणों को हांगकांग के लिए निर्यात करना बंद कर देगा और इसी तरह के प्रतिबंध रक्षा प्रौद्योगिकी को लेकर भी उठाएगा.

इससे पहले, हांगकांग के मसले पर अमेरिका की प्रतिक्रिया में चीन ने भी अमेरिका से आने वाले लोगों के वीजा पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है. अमेरिका ने दुनिया को ये संदेश दे दिया था कि चीन के अत्याचारों की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है और अमेरिका चीन के विस्तारवादी सोच पर अंकुश लगाने को पूरी तरह से तैयार है. 

Leave a Reply

%d bloggers like this: