चीन ने विकसित की अल्जाइमर की दवा, बाजार में उतारेगा

चीन ने करीब सत्रह साल के अनुसंधान के बाद अल्जाइमर की दवा को बजार में उतारने की मंजूरी दे दी है जो संभवत: गले महीने से स्थानीय बाजार में मिलने लगेगी. इसके बाद वैश्विक बाजार में इसे उतारा जाएगा.

रिपोर्ट के मुताबिक, इस दवा को शंघाई की कंपनी ग्नेरीन वैली बनाया है. चीन इस दवा को बनाने वाला पहला देश है. अल्जाइमर भूलने की बीमारी है जिसके इलाज के लिए अब तक कोई दवा दुनिया में नहीं थी, लेकिन चीन की दवा कंपनी ने यह कर दिखया है. ग्रीन वैली अनुसंधान करने वाली कंपनी है . इस दवा को करीब आठ सौ मरीजों पर आजमाया गया है और इसके परिणाम सकारात्मक मिले.

चीन के राष्ट्रीय मेडिकल उत्पाद प्रशासन ने इस दवा को ओलिगोमैनेट नाम से बाजार में उतारने की स्वीकृति दी है.ग्रीन वैली ने अपने बयान में कहा है कि शुरुआत में इसे सिर्फ लोकल ही बेचा जाएगा. बाद में अमेरिका, एशिया और यूरोप के देशों में भी उपलब्ध कराया जाएगा.

दुनिया भर में अल्जाइमर से करीब पांच करोड़ लोग पीड़ित हैं जिनमें एक करोड़ केवल चीन में हैं. अब उम्मीद है कि यह बीमारी लाइलाज नहीं रहेगी.

हिन्दुस्थान समाचार / कृष्ण

Leave a Comment