#IPL 2019: चेन्नई ने बनाया ये शर्मनाक रिकॉर्ड़, फिर भी पहुंची प्लेऑफ में

हर बार की तरह इस बार भी चेन्नई सुपर किंग्स ने आपने अच्छे प्रदर्शन की बदौलत आइपीएल के प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई कर लिया है. लेकिन इस बार चेन्नई ने एक ऐसा रिकॉर्ड़ बनाया है जिसे वे कभी दोहराना नहीं चाहेंगे.

सलामी बल्लेबाज नहीं दे सके अच्छी शुरुआत

इस सीजन में चेन्नई के सलामी बल्लेबाज अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे हैं. इस वजह से चेन्नई एक धीमी शुरुआत करने वाली टीम बन गई है. पावरप्ले का फायदा उठाने में चेन्नई नाकाम रही है.

बुधवार को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ भी चेन्नई ने काफी धीमी शुरुआत की थी. शुरू के छह ओवर में चेन्नई एक विकेट के नुकसान पर सिर्फ 27 रन ही बना सकी थी.

चेन्नई ने आईपीएल के 12वें सीजन में पावरप्ले में तीसरा सबसे कम स्कोर बनाया है. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ चेन्नई पावरप्ले में सिर्फ 16 रन ही बना सकी थी.

खराब शुरुआत का रिकॉर्ड राजस्थान के नाम

आइपीएल के इतिहास में सबसे खराब शुरुआत का रिकॉर्ड राजस्थान रॉयल्स के नाम दर्ज है. राजस्थान ने बैंगलोर के खिलाफ शुरू के छह ओवर में दो विकेट खोकर सिर्फ 14 रन ही बना सकी थी. राजस्थान के बाद दूसरे नंबर पर चेन्नई का ही नाम है. कोलकाता के खिलाफ चेन्नई की टीम ने 2011 में पावरप्ले में दो विकेट गंवाकर 15 रन बनाए थे.

चेन्नई की तीसरी धीमी शुरुआत

दिल्ली के खिलाफ बुधवार को चेन्नई ने अपनी तीसरी धीमी शुरुआत की. चेन्नई ने इससे पहले राजस्थान के खिलाफ 24 और बैंगलोर के खिलाफ पावरप्ले में 16 रन रन बनाए थे. दिल्ली के खिलाफ वो छह ओवर में 27 रन ही बना सके.

सलामी जोड़ी बनी धीमी शुरुआत की वजह

धीमी शुरुआत की सबसे बड़ी वजह चेन्नई की सलामी जोड़ी और चेपॉक की पिच रही. इस पूरे सीजन में शेन वॉटसन और फॉफ डु प्लेसिस कुछ खास नहीं कर पाए और उनका बल्ला खामोश रहा है.

वहीं, चेन्नई की पिच भी काफी धीमी है. चेन्नई ने अपने अधिकतम मैच चेपॉक में ही खेले हैं. उम्मीद है कि आने वाले दिनों में चेन्नई इस समस्या को दूर कर लेगी.

%d bloggers like this: