भारत में जल्दी मिलेगी Covid-19 की सबसे सस्ती दवा, एक टैबलेट की कीमत 59 रुपये, DCGI से मिली अनुमति

Corona vaccine
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से पूरे विश्व में महामारी फैल चुकी है. इस बीमारी की अब सबसे सस्ती दवा (Corona Medicine) भी बन चुकी है. उसे बाजार में लाने की अनुमति भी एक दवा कंपनी को मिल गई है. ये अब तक की सबसे सस्ती दवाई बताई जा रही है.

इस दवा को बाजार में लाने के लिए ड्रग्स कंट्रोलर ऑफ इंडिया (DCGI) से दवा कंपनी को अनुमति मिल चुकी है. बता दें कि इस दवा की एक टैबलेट मात्र 59 रुपये में मिलेगी. इस दवा का नाम है फैवीटॉन (Faviton). इसे बनाया है ब्रिन्टन फार्मास्यूटिकल्स ने.

कंपनी का दावा है कि ये एंटीवायरल ड्रग है जो कोरोना वायरस से लड़ने में कोरोना मरीजों की मदद करेगी. इस दवा को फैवीपिरावीर (Favipiravir) के नाम से भी बाजार में बेचा जाता है.

ब्रिन्टन फार्मा कंपनी का कहना है कि फैवीटॉन 200 मिलीग्राम की टैबलेट में आएगी. एक टैबलेट की कीमत 59 रुपये होगी. कीमत मैक्सिमम रिटेल प्राइज होगी. इससे ज्यादा कीमत पर ये दवा नहीं बेची जा सकेगी.

ब्रिन्टन फार्मा के सीएमडी राहुल कुमार दर्डा ने कहा कि हम चाहते हैं कि ये दवा देश के हर कोरोना मरीज को मिले. हम इसे हर कोविड सेंटर पर पहुंचाएंगे. हमारी दवा की कीमत भी फिक्स है. ये एक सस्ती दवा है.

कंपनी ने कहा है कि इस समय फैवीपिरावीर (Favipiravir) दवा की जरूरत सबको है. ये दवा उन मरीजों के लिए बेहतरीन है जिन्हें कोरोना का हल्का या मध्यम दर्जे का संक्रमण है.

इस दवा का नाम है फैवीटॉन (Faviton). इस बनाया है ब्रिन्टन फार्मास्यूटिकल्स ने. कंपनी का दावा है कि यह एंटीवायरल ड्रग है जो कोरोना वायरस से लड़ने में कोरोना मरीजों की मदद करेगी. इस दवा को फैवीपिरावीर के नाम से भी बाजार में बेचा जाता है.