Yamuna Expressway

प्रशासन और पुलिस की लाख कोशिशों के बावजूद यमुना एक्सप्रेस-वे पर हादसे होने का सिलसिला धमने का नाम नहीं ले रहा है. पिछले कई सालों के दौरान हुए हादसे यह बताते हैं कि तेज रफ्तार फर्राटा भरते वाहन मौत का कारण बन रहे हैं.

लगातार होने वाले हादसों के चलते कहते हैं कि इस हाइवे पर गाड़ियों के साथ मौत भी दौड़ती है. हालांकि अब प्रशासन इन हादसों को रोकने के लिए 5 अहम बदलाव करने जा रहा है. इन हादसों को रोकने को लिए यमुना प्राधिकरण ने दिल्ली आईआईटी (IIT) की मदद ली है.

डिवाइडर की जगह थ्राई पिलर की जरूरत

दिल्ली आईआईटी के अनुसार यदि इस इस एक्सप्रेस वे में हादसे के दौरान कई गाड़ियां छतिग्रस्त हो जाती हैं. रिपोर्ट के अनुसार डिवाइडर से टकराकर वाहन दूसरी ओर आ जाते हैं. जिससे कई अन्य वाहन भी दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं. वहीं डिवाइडर के बदले थ्राई पिलर से ऐसे हादसों पर ब्रेक लगाई जा सकती है.

रंबल स्ट्रिप लगाने की वकालत

दिल्ली आईआईटी के अनुसार अधिकतर हादसे चालक को नींद आने के चलते होते हैं. रिपोर्ट में बताया गया कि चालक को जब नींद या झपकी आने लगती है तो हादसे होने की संभावना बढ़ जाती है. रिपोर्ट में कहा गया है कि रंबल स्ट्रिप लगाने से चालक को बीच-बीच में झटके लगते रहेंगे. जिससे नींद नहीं आएगी.

बैरियर को उंचा करने की जरूरत

रिपोर्ट में कहा गया है कि हाईवे पर होने वाले हादसों में जानवर भी बहुत अहम होते हैं. रिपोर्ट में कहा गया कि जब अचानक से कोई जानवर गाड़ी के सामने आएगा या टकराएगा, तो हादसे होते रहेंगे. इसके लिए हाइवे के बैरियर को इतना उंचा होना चाहिए कि कोई जानवर उसे फांद ना सके.

यमुना एक्सप्रेस-वे पर स्पीड गन बढ़ाने की जरूरत

रिपोर्ट के अनुसार यमुना एक्सप्रेस वे पर गति पर अंकुश लगाने के लिए स्पीड गन की भी संख्या बढ़ाई जानी चाहिए. स्पीड गन में कैमरा दो सौ मीटर की दूरी से ही किसी भी वाहन की गति को माप सकता है. इससे वाहन चालक को रोककर उसके सामने ही कैमरे से उसके वाहन की स्पीड का ब्यौरा स्लीप में दिया जा सकता है.

कैमरे बढ़ाने की तैयारी

एक्सप्रेस-वे पर लगे कैमरों की संख्या में बढ़ोत्तरी करके भी हादसों की संख्या कम की जा सकती है. कैमरे से प्रशासन को हाइवे के हर हिस्से की जानकारी होगी. तो रफ्तार और हादसों दोनों में लगाम लगाई जा सकती है.

एक्सप्रेस-वे का संचालन करने वाली कंपनी के अनुसार करीब 224 करोड़ रुपये खर्च करके हादसों में लगाम लगाई जा सकती है.

Leave a Reply