कोरोना के कारण मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, इन स्‍कीम्‍स पर लगा दिया ब्रेक

नई दिल्ली. कोरोना के कारण देश को इस समय काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है. देश की इकोनॉमी हर दिन धीमी होती जा रही है. जिसे एक बार फिर तेज करने के लिए सरकार तमाम कोशिश करने में लगी हुई हैं.

एक बार फिर देश के हालातों को देखते हुए सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. दरअसल मोदी सरकार ने उन सभी योजनाओं को बंद कर दिया है, जिसे 2020-21 के आम बजट में ऐलान किया गया था.

कोरोना के इस संकट में सरकार ने अगले साल मार्च तक कोई भी नई सरकारी स्कीम शुरू नहीं करने का फैसला किया है. हालांकि ये रोक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना  और आत्मनिर्भर भारत से जुड़ी योजनाओं पर लागू नहीं होगी.

सरकार के इस कदम को लेकर वित्त मंत्रालय का कहना है कि कोरोना की वजह से जारी आर्थिक संकट में खर्चों की कटौती के तहत यह फैसला लिया गया है.

आपको बता दें सरकार भले ही बजट की योजनाओं को बंद कर रही हैं. लेकिन हाल ही में पीएम मोदी ने देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज का ऐलान किया था. जिसके जरिए सरकार देश के हर शख्स तक मदद पहुंचाने की कोशिश कर रही है.

 आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत घोषित 20 लाख करोड़ का पैकेज भारत के हर नागरिक चाहे वो किसान हो, छोटा उद्योमी हो या किसी स्टार्टअप से जुड़ा युवा हो, उसके समक्ष नए अवसरों के युग की शुरुआत करेगा.

सरकार के इस कदम को उठाने का एक कारण कम राजस्व भी है. मीडिया रिपोर्टस की मानें तो अप्रैल 2020 के दौरान 27,548 करोड़ रुपये राजस्व मिला, जो बजट अनुमान का 1.2% था. जबकि सरकार ने 3.07 लाख करोड़ खर्च किया, जो बजट अनुमान का 10 फीसदी था.

वित्तीय संकट से जूझने की वजह से सरकार कर्ज भी ज्‍यादा ले रही है. बीते दिनों सरकार ने ऐलान किया था कि वह चालू वित्त वर्ष के लिए अपने बाजार से कर्ज लेने का अनुमान 4.2 लाख करोड़ रुपये से बढ़ाकर 12 लाख करोड़ रुपये करेगी. ऐसे में बड़े अधिकारियों को लगता है कि इन योजनाओं को अभी लागू न करना ही सरकार के लिए सही है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: