पुलिस हिरासत में बाप-बेटे की मौत की सीबीआई जांच कराएगी तमिलनाडु सरकार

tuticorin case
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

चेन्नई: तमिलनाडु के तूतीकोरिन में पुलिस हिरासत में पिता-पुत्र की मौत का मामला सुखियों में है. पुलिस की कार्यशैली को लेकर विवाद बढ़ने और लोगों के आक्रोश को देखने के बाद सरकार ने इस केस की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने का ऐलान किया है.


राज्य के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने रविवार को कहा है कि अगली सुनवाई (30 जून) को मद्रास हाई कोर्ट की मदुरै बेंच से तूतीकोरिन कस्टोडियल डेथ केस को सीबीआई को ट्रांसफर करने की अनुमति लेंगे. कोर्ट से अनुमति मिलने का बाद इस केस की जांच सीबीआई को सौंप दी जाएगी. 

19 जून को पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान मोबाइल एसेसरीज की दुकान खोलने पर जयराज (59) और उनके पुत्र बेनीक्स (31) को हिरासत में लेकर सथानकुलम थाने ले गई थी. पुलिस पर आरोप है कि पूछताछ के दौरान दोनों के साथ क्रूरता की थी. गंभीर हालत में पिता-पुत्र को अस्पताल ले जाया गया.

22 जून को कोविलपट्टी जनरल अस्पताल में बेनीक्स की और 23 जून की सुबह जयराज की मौत हो गई थी. डॉक्टर की रिपोर्ट में दर्ज टिप्पणियां इस बात की ओर संकेत करती हैं कि दोनों को काफी शारीरिक यातनाएं दी गईं थी. 

जयराज की पत्नी ने आरोप लगाया है कि उनके पति और बेटे को अपमानित किया गया और उन्हें यातनाएं दी गईं, जिससे उनकी मौत हो गई. पुलिस हिरासत में पिता-पुत्र की मौत के बाद पूरे राज्य और देश में लोगों में आक्रोश है.

हिन्दुस्थान समाचार/सुनील