कोलकाता के पूर्व कमिश्नर Rajeev Kumar पर CBI का सख्त हुआ शिकंजा

कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री राजीव कुमार की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. राजीव कुमार के खिलाफ CBI ने अब सख्त रुख अपनाते हुए लुकआउट नोटिस जारी किया है.

राजीव कुमार विदेश जाने की कोशिश करते हैं तो उनकी यात्रा से पहले सभी एयरपोर्ट अथॉरिटी सीबीआई को सूचना देंगे. 23 मई को जारी किया गया यह नोटिस एक साल तक प्रभावी रहेगा.

राजीव कुमार पर शारदा चिटफंड और रोजवैली चिटफंड घोटाले की जांच के दौरान सबूतों से छेड़छाड़ का आरोप है. इस मामले में सीबीआई राजीव कुमार को पूछताछ करने के लिए गिरफ्तार करना चाहती है. 

इस मामले में कुछ दिनों पहले एक लंबा राजनीतिक ड्रामा भी देखने को मिला था. जिसमें पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने उन्हें अपना आश्रय दिया था. और उनके बचाव में धरने पर बैठ गई थीं.

क्या था मामला

दरअसल सीबीआई जब कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पर छापा मारने गई थी, तब कोलकाता पुलिस ने सीबीआई अधिकारियों को ही हिरासत में ले लिया था.

इसके बाद केंद्रीय गृह सचिव ने राज्य के मुख्य सचिव मलय दे को फोन कर चेतावनी दी कि अगर एक घंटे के अंदर सीबीआई अधिकारियों को नहीं छोड़ा तो केंद्रीय बलों का इस्तेमाल किया जाएगा. इसके तुरंत बाद हिरासत में लिए गए सभी अधिकारियों को छोड़ दिया गया था.

सीबीआई के छापे को लेकर ममता बनर्जी ने पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला था. कोलकाता पुलिस कमीश्नर पर कार्रवाई के विरोध में ममता धरने पर भी बैठ गई थीं. ममता के धरने में कोलकाता पुलिस के कई बड़े अफसरों ने भी हिस्सा लिया था.

%d bloggers like this: