ईटानगर में छात्रों का प्रदर्शन तीसरे दिन भी जारी

ईटानगर में पब्लिक सर्विस कमीशन की मेन्स परीक्षा को फिर से कराने की मांग को लेकर अभ्यर्थी लगातार प्रदर्शन कर रहे है. मंगलवार की सुबह एपीपीएससी के मुख्यालय में कॉमर्स, एग्रिकल्चर, इंजिनियरिंग समेत अन्य कई विभागों के लिए परीक्षा आयोजित की गई है. कार्यालय के बाहर काफी संख्या में प्रदर्शनकारी डंटे हुए हैं. इस मुद्दे को लेकर पहले दिन जहां ईटानगर के किंगकप इंग्लिश पब्लिक स्कूल के सामने प्रदर्शन किया गया, वहीं दूसरे दिन मुख्यमंत्री आवास के सामने एपीपीएससी की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों ने दिनभर आंदोलन किया.  प्रदर्शनकारी अपनी मांगों को लेकर परीक्षा केंद्र के बाहर धरने पर बैठकर नारेबाजी कर रहे हैं.

अभ्यर्थियों का कहना है कि न्यायालय की प्रक्रिया के चलते उनकी पढ़ाई बाधित हुई है. इसलिए परीक्षा की तिथि नये सिरे से निर्धारित कर परीक्षार्थियों के साथ न्याय किया जाए. शनिवार को राज्यभर के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर एपीपीएससी की मेन्स परीक्षा आयोजित की गई थी. इस दौरान इटानगर के किंगकप इंग्लिश पब्लिक स्कूल में भी एपीपीएससी की मेन्स की परीक्षा आयोजित की गई थी. जहां पर भारीसंख्या में परीक्षार्थियों ने इसका विरोध करते हुए परीक्षा की नई तिथि घोषित करने की मांग की थी. 26 नवम्बर, 2017 और 29 जून 2018 को दो बार आयोजित एपीपीएससी की लिखित परीक्षा में असफल परीक्षार्थियों ने गौहाटी हाईकोर्ट में याचिका दायर कर पुनः परीक्षा कराने की मांग की थी. उनका कहना था कि लिखित परीक्षा में धांधली हुई है, जिसके चलते उनको जान बूझकर फेल कर दिया गया है. इस पर कोर्ट ने स्टे दिया था.

जिसके चलते एपीपीएससी की सभी तरह की परीक्षाएं रूक गई थीं. इस बीच गौहाटी हाईकोर्ट ने बीते शुक्रवार को अपने फैसले में परीक्षा पर लगाई गई रोक को हटा दिया. वहीं एपीपीएससी संस्थान ने मेन्स की परीक्षा पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत शनिवार को आयोजित की थी. कोर्ट के आदेश के बाद परीक्षा का रास्ता साफ हो गया. वहीं मेन्स की परीक्षा में बैठने वाले उम्मीदवार यह कहते हुए विरोध कर रहे हैं कि न्यायालय की कार्रवाई के चलते उनकी तैयारी नहीं हुई है. साथ ही अगर न्यायालय का फैसला लिखित परीक्षा में असफल होने वाले उम्मीदवारों के पक्ष में आता है तो उन्हें एक बार पुनः परेशानी का सामना करना पड़ेगा.
इन समस्याओं से छुटकारा मिलने तक मेन्स की परीक्षा को अभ्यर्थियों ने रद्द करने की मांग को लेकर पिछले तीन दिनों से आंदोलन कर रहे हैं. किसी भी गड़बड़ी को रोकने के लिए मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है. राज्य के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर एपीपीएससी की मेन्स परीक्षा शनिवार को आयोजित की गई. वहीं मंगलवार को भी विभिन्न विभागों की परीक्षाएं आयोजित की गई हैं. राज्य सरकार इस मामले में चुप्पी साधे हुए है.
तागू/ अरविंद

%d bloggers like this: