कैबिनेट: देश के 8 नए NIT से जुड़े निर्माण खर्च में मंजूरी, अन्य पिछड़ा वर्ग का कार्यकाल बढ़ा

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गई
  • वहीं सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्ग में उपवर्ग बनाए जाने के मुद्दे पर गठित आयोग का कार्यकाल 6 महीने बढ़ा दिया है

नई दिल्ली, 22 जनवरी (हि.स.). केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को नए राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (एनआईटी) के स्थायी परिसरों के निर्माण के लिए संशोधित लागत अनुमान (आरसीई ) 4371.90 करोड़ रुपये को मंजूरी दी है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गई.

वहीं सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्ग में उपवर्ग बनाए जाने के मुद्दे पर गठित आयोग का कार्यकाल 6 महीने बढ़ा दिया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रीमंडल ने बुधवार को इस आयोग का कार्यकाल 31 जुलाई 2020 तक बढ़ाने का फैसला किया है. इसके अलावा आयोग से जातियों के नामों को लेकर भाषा संबंधित त्रुटियों व विसंगतियों को भी ठीक करने से जुड़ा परामर्श भी देने को कहा गया है.

मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी देते हुए केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि देश में आर्थिक और शैक्षिक रुप से वंचित अन्य पिछड़ा वर्ग में समुदायों की अलग-अलग तरह की स्थितियां हैं। कई को आरक्षण के बावजूद न्याय नहीं मिल पा रहा है। इसके लिए ही ओबीसी कमीशन बना है जिसके कार्यकाल में बढ़ोत्तरी की गई है।

मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी देते हुए केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि 2009 में तात्कालीन सरकार ने इन एनआईटी को ग्रांट किया था. हालांकि उनके निर्माण के लिए जमीन और उपयुक्त धन की व्यवस्था नहीं की गई थी.

इसका खमियाजा यह उठाना पड़ा कि वहां सुविधायें नहीं मिल पाईं, नतीजतन शिक्षा का भी नुकसान हुआ. उस समय अरुणाचल, मेघालय, नगालैंड, मिजोरम, पुडुचेरी और दिल्ली में हर एनआईटी के लिए 250 करोड़ रुपये मंजूर दिए गए थे.

इन एनआईटी को वर्ष 2009 में स्थापित किए गया था और इन्होंने अपने संबंधित अस्थायी परिसर में शैक्षणिक वर्ष 2010-2011 से बहुत सीमित स्थान और बुनियादी ढांचे के साथ काम करना शुरू किया था. ये एनआईटी 31 मार्च, 2022 तक अपने संबंधित स्थायी परिसरों में पूरी तरह काम करने लगेंगे. इन परिसरों में कुल छात्र क्षमता 6320 होगी.

Also Read: Pm Modi News | Prakash Javadekar News

हिन्दुस्थान समाचार/अनूप

Leave a Reply

%d bloggers like this: