कांगड़ा और शिमला लोकसभा से चार विधायक आमने- सामने, दो सीटों पर उप चुनाव तय

शिमला: हिमाचल की चार लोकसभा सीटों पर बीजेपी ने सभी चार और कांग्रेस ने तीन संसदीय क्षेत्रों में उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. कांगड़ा और शिमला संसदीय क्षेत्र से दोनों ही पार्टियों ने अपने वर्तमान विधायकों को लोकसभा चुनाव में उतारा है.

दो सीटों पर उपचुनाव होना तय– ऐसे में विधानसभा के दो उप चुनाव होने अब तय है. शिमला सुरक्षित संसदीय क्षेत्र से बीजेपी के प्रत्याशी सुरेश कश्यप चुनाव मैदान में हैं. सुरेश कश्यप वर्तमान में सिरमौर जिला के पच्छाद विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं. वे 2017 में दूसरी बार पार्टी के विधायक बने हैं.

कांग्रेस के शांडिल सोलन से लड़ेंगे चुनाव– वहीं कांग्रेस ने भी सोलन जिले की सोलन सदर विधानसभा क्षेत्र से पार्टी के विधायक धनी राम शांडिल को लोकसभा चुनाव में उतारा है. शांडिल 1999 से लेकर 2000 तक शिमला से पहले भी सांसद रह चुके हैं, जबकि वे 2012 और 2017 में सोलन विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने हैं.

बीजेपी और कांग्रेस में सीधा मुकाबला– हिमाचल में बीजेपी और कांग्रेस में सीधा मुकाबला होता है. यहां कोई भी तीसरी ताकत मैदान में नहीं है. ऐसे में शिमला संसदीय क्षेत्र से कोई भी प्रत्याशी जीते उपचुनाव होना तय है. इसी तरह कांगड़ा लोकसभा से भी बीती देर रात कांग्रेस ने अपने विधायक पवन काजल को मैदान में उतारा है.


बीजेपी ने किशन कपूर को चुनावी मैदान में उतारा– काजल 2012 में पहली बार निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनकर विधानसभा में पहुंचे थे. 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने कांग्रेस का दामन थामा था और कांग्रेस की टिकट पर चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे थे. वहीं बीजेपी ने कागड़ा से पहले ही धर्मशाला से विधायक और प्रदेश सरकार में खाद्य और उपभोक्ता मंत्री किशन कूपर को चुनाव मैदान में उतारा है.

चार में से दो विधानसभाओं में होंगे उपचुनाव– ऐसे में कोई भी प्रत्याशी जीते यहां पर भी उपचुनाव होना तय है. कपूर गद्दी समुदाय से और काजल अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंध रखते हैं. कांगड़ा और शिमला संसदीय क्षेत्र से जो भी प्रत्याशी जीते चार विधानसभा सभाओं धर्मशाला, कांगड़ा, सोलन और पच्छाद में से दो सीटों पर उपचुनाव होना तय है.

हिन्दुस्थान समाचार/सुनील/बच्चन

%d bloggers like this: