अमेरिका में फिर सामने आया ‘जॉर्ज फ्लायड’ जैसा मामला, प्रदर्शनकारियों और पुलिस की झड़प

protest in us
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

अमेरिका में चुनाव से पहले एक और अश्वेत पर पुलिस फायरिंग का मामला सामने आने से माहौल खराब हो गया है. विस्कॉन्सिन राज्य के केनोशा शहर में जेकब ब्लेक नाम के अश्वेत व्यक्ति को सात बार गोली मारी गई. फिलहाल उसकी हालत गंभीर है. अफ्रीकन-अमेरिकी नागरिक को गोली मारने के विरोध में प्रदर्शनकारी कर्फ्यू तोड़कर सड़क पर उतर आए. उन्होंने जमकर अश्वेत नागरिक को गोली मारे जाने का विरोध किया. हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोल छोड़ने पड़े हैं. स्थिति इतनी बिगड़ गई कि नेशनल गार्ड को भी बुलाना पड़ा है.

केनोशा पुलिस ने बताया है कि पुलिस फायरिंग में घायल एक शख्स को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बताया जा रहा है कि जैकब को सात बार गोली मारी गई. इस घटना से भड़के लोगों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और प्रदर्शनकारियों ने पुलिस बल पर बोतलें फेंकी. इस घटना को लेकर विस्‍कोंसिन के गवर्नर टोनी इवर ने तीखी निंदा की है.

बता दें कि केनोशा शहर में लगातार दूसरे दिन ब्लेक को गोली मारे जाने को लेकर विरोध प्रदर्शन हुआ है.

वीडियो में दिखी है पूर घटना

फायरिंग की इस घटना में जैकब अपनी कार की तरफ जाते हुए नजर आ रहा है और पीछे तीन पुलिस अफसर पिस्टल ताने हुए हैं. जैसे ही जैकब अपनी कार की ड्राइविंग साइड वाली खिड़की खोलता है, उस पर फायरिंग कर दी जाती है. हालांकि अभी ये साफ नहीं हो सका है कि अश्‍वेत नागरिक पर किसी एक पुलिसकर्मी ने ही गोली चलाई है या अन्‍य पुलिसकर्मियों ने भी उस पर गोलियां चलाई है.

इस वीडियो के सोशल मीडिया पर आते ही विस्कॉन्सिन समेत आसपास के दूसरे राज्यों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए.

जॉर्ज फ्लायड की मौत से दहल उठा था अमेरिका 

जॉर्ज फ्लायड की हत्या 24 मई को हुई थी. जॉर्ज को करीब छह मिनट तक एक पुलिसकर्मी ने घुटनों के नीचे गर्दन दबे रहने और सांस न ले पाने के चलते उनकी मौत हो गई. इस घटना के बाद अमेरिका के 40 राज्‍यों में कर्फ्यू लगाया गया था. कई जगहों पर बेकाबू प्रदर्शनकारियों की पुलिस से हिंसक झड़प भी हुई थी. वहीं जैकब को गोली मारने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस का जबरदस्‍त विरोध हुआ है. लोगों ने सड़कों पर उतरकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की है.