प. बंगालः जेपी नड्डा बोले- बंगाल का गौरव और संस्कृति वापस लाना होगा

कोलकाता, प. बंगाल।

पश्चिम बंगाल में अपनी पकड़ को मजबूत करने के लिए बीजेपी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव हैं. इसी को देखते हुए बीजेपी के दिग्गज नेता लगातार प्रदेश में वर्चुअल रैलियां कर रहे हैं.

 जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने वर्चुअल रैली को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने बंगाल में राजनीतिक परिवर्तन की अपील की. उन्होंने कहा कि बंगाल का गौरव वापस लाना है.

नड्डा ने कहा कि राजनीतिक और शैक्षणिक दृष्टि व संस्कृति के स्तर पर बंगाल गौरव वापस लाना है और वर्तमान सरकार को बाहर करना होगा. यह हमारी जिम्मेदारी है. उन्होंने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जिन बातों के लिए अपना सर्वस्व बलिदान किया, आज उनका जन्मस्थान बंगाल राजनीतिक हिंसा और अपराधीकरण का स्थान बन चुका है.

नड्डा ने कहा कि बंगाल कभी देश को दृष्टि देता था. कहा जाता था कि बंगाल जो आज सोचता है, देश बाद में सोचता है लेकिन आज शिक्षा हो या अन्य मसला, बंगाल की स्थिति को देखकर दिल द्रवित हो जाता है. शिक्षा का राजनीतिकरण हुआ है. आज शैक्षणिक संस्थाओं में राजनीति के आधार पर नियुक्तियां हो रही हैं. राजनीति की जा रही है. बंगाल की शिक्षा को बदलना होगा.

उन्होंने कहा कि डॉ मुखर्जी ने विचार के खातिर पद को महत्व नहीं दिया, लेकिन बंगाल में जो आज का नेतृत्व है, वह पद के लिए हर तरह से समझौता कर रहा है. उन्होंने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने क्षेत्रीयता और राष्ट्रवाद को समान महत्व दिया था, लेकिन वर्तमान की बंगाल की मुख्यमंत्री संघीय ढांचा का भी पालन नहीं कर रही हैं.

ममता सरकार पर हमला करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना मामले पर ममता सरकार केंद्र सरकार को रिपोर्ट नहीं देती हैं. आयुष्मान भारत जैसी योजना को बंगाल में लागू नहीं किया जाता, क्योंकि इससे प्रधानमंत्री मोदी को श्रेय मिल जाएगा. उन्होंने कहा कि यहां सुशासन की स्थापना तभी होगी, जब बीजेपी की सरकार बनेगी.

हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश

Leave a Reply

%d bloggers like this: