जो PM से निडर होकर बात कर सके ऐसे नेतृत्व की जरूरत-मुरली मनोहर जोशी

नई दिल्ली. बीजेपी के सीनियर नेता वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi) ने कहा है कि नेशनल और इंटरनेशनल मुद्दों पर सभी राजनीतिक पार्टियों के बीच में जो विचार-विमर्श होता था वो अब लगभग खत्म हो गया है.

मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि इस परंपरा को फिर से कायम करने की जरूरत है. जोशी ने कहा भारत को ऐसे नेता की जरूरत है जो पीएम (Prime Minister) से बिना किसी डर के बात कर सके.

जोशी ने कहा, कुछ मामलों में माकपा के नेता सीताराम येचुरी अपने नाम के अनुरूप ‘सीताराम का ध्यान रखकर हमारा (बीजेपी) का साथ देते थे और कभी-कभी हम भी उनका (वामपंथी विचारधारा) साथ देते थे.

उन्होंने कहा कि ये जो एक फोरम था जिसमें एक समझ बनी थी कि कई पार्टियों के लोग कुछ राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मसलों पर एकमत बनाने की कोशिश करते थे, ये कोशिशें भी कम हो गयी हैं.

पूर्व केंद्रीय मंत्री जयपाल रेड्डी (Jaipal Reddy) की याद में आयोजित संस्मरण सभा को संबोधित करते हुए मुरली मनोहर जोशी ने कहा, भारत को ऐसे नेता की जरूरत है, जो जब अपनी बात कहे तो इस डर में न रहे कि उसकी बातों को सुनकर प्रधानमंत्री खुश होंगे या नहीं.

वरिष्ठ BJP नेता ने कहा कि कुछ ऐसे प्रश्न हैं जो देश और कुछ मामलों में विश्व के लिए महत्वपूर्ण हैं. इन पर विचार विमर्श होना न सिर्फ जनतंत्र के लिए महत्वपूर्ण है बल्कि देश के भविष्य के लिए भी जरूरी हैं. उस तरफ ध्यान देने की जरूरत है. यही रेड्डी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी.

Leave a Reply

%d bloggers like this: