Lockdown का नाटक कर रही ममता सरकार – BJP

कोलकाता .पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा बंगाल के कंटेनमेंट इलाके में फिर से लॉक डाउन की घोषणा को प्रदेश भाजपा ने आड़े हाथ लिया है और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर लॉक डाउन का नाटक करने का आरोप लगाया है.

भाजपा के महासचिव व प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जब पूरे देश में लॉक डाउन था उस समय पश्चिम बंगाल में लॉक डाउन सिर्फ कुछ नागरिकों के लिए था.यहां सत्ताधारी कार्यकर्ताओं और अल्पसंख्यकों के लिए लॉक डाउन नहीं था.इसीलिए कोरोना की इतनी बड़ी समस्या उत्पन्न हुई.यदि शुरू में लॉक डाउन का इमानदारी से पालन किया गया होता, तो बंगाल इस दु:खदायी दौर से नहीं गुजरता.इसके लिए यदि कोई जिम्मेदार है, तो वह ममता जी और उनकी सरकार है.

लॉक डाउन के दौरान जिन नियमों का पालन करना था, उनका पालन नहीं किया गया और राजनीतिकरण किया गया.अभी भी लॉक डाउन की परिस्थिति में सरकार को चाहिए कि लॉक डाउन का इमानदारी से पालन हो, तभी कोरोना का संक्रमण रोकना संभव हो पायेगा.लॉक डाउन के नाटक से कोरोना नहीं जायेगा.

कोरोना टेस्ट की सं‍ख्या घटना पर विजयवर्गीय ने कहा कि ममता सरकार डर रही है कि सरकार टेस्ट ज्यादा करेगी, तो मरीज ज्यादा निकलेंगे और प्रदेश की बदनामी होगी़.इसी कारण टेस्ट कम कर दी है.

दूसरी ओर, प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने शुक्रवार सुबह इको पार्क में मार्निंग वाक के दौरान लॉकडाउन पर सवाल किया कि बंगाल में कब से लॉक डाउन हुआ? केवल मुंह से लॉक डाउन की घोषणा हुई है, जिन्होंने लॉक डाउन की घोषणा की है, वहीं लॉक डाउन नहीं मान रही हैं.उन्हें देखकर अन्य लोग भी नहीं मान रहे हैं.बंगाल में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है.प्रतिदिन 1000 से अधिक लोग संक्रमित हो रहे हैं.20 से 25 लोगों की मौत हो रही है.सरकार इसके बावजूद भी सतर्क नहीं है.

लॉक डाउन केवल विरोधी दल के नेताओं व कार्यकर्ताओं के लिए है.तृणमूल कांग्रेस नेता जुलूस व मीटिंग कर रहे हैं.अभी भी लॉक डाउन का पालन नहीं हो रहा है.यदि सच में लॉक डाउन करने की मंशा रहती तो कंटेनमेंट जोन (जोखिम क्षेत्र) को पूरी तरह से ब्लॉक कर दिया जाता.यदि संक्रमण रोकना है तो कड़ाई से लॉकडाउन का पालन करना होगा.

हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश

Leave a Reply

%d bloggers like this: