HEART के मरीजों को बचाएगी AIIMS की बाइक एम्बुलेंस
  • बाइक एम्बुलेंस का मकसद है कि आस पास के लोगों को कम समय में इलाज मुहैया कराया जाए
  • पेशेंट को हार्ट अटैक के बाद शॉक देने वाली पोर्टेबल एडीआर मशीनें लगाई गई हैं

एमरजेंसी के समय हार्ट के मरीजों की जान बाइक एम्बुलेंस बचाएगी. इस बाइक एम्बुलेंस के जरिए मरीजों को समय पर हॉस्पिटल लेकर जाया जाएगा.

All India Institute of Medical Sciences (AIIMS) ने पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर फर्स्ट रेस्पॉन्डर बाइक को लॉन्च किया है. इस बाइक एम्बुलेंस का मकसद है कि आस पास के लोगों को कम समय में इलाज मुहैया कराया जाए. यह एम्बुलेंस गुरूवार को लॉन्च की गई.

यह एम्बुलेंस तीन किलोमीटर के दायरे में हार्ट के मरीजों को इलाज उपलब्ध कराएगी. इस बारे में एम्स के डॉयरेक्टर रणदीप गुलेरिया और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के डॉक्टर बलराम भार्गव ने बाइक एम्बुलेंस के प्रोजेक्ट को मिशन दिल्ली नाम दिया है.

डॉ. भार्गव ने कहा कि एम्स में इस सुविधा को शुरू किया गया है. आने वाले समय में इस सुविधा को देश के अन्य हिस्सों में भी हार्ट के मरीजों के लिए शुरू किया जाएगा.

पांच करोड़ का प्रोजेक्ट

यह एक मुख्य प्रोजेक्ट है. इस प्रोजेक्ट के लिए पांच करोड़ रूपये की राशि खर्च हुई है. डॉ. भार्गव का कहना है कि यह प्रोजेक्ट अभी सिर्फ तीन सालों के लिए शुरू किया गया है. इसकी सफलता को देखते हुए इसे आगे और बढा़या जा सकता है.

ऐसी है बाइक एम्बुलेंस

यह बाइक एम्बुलेंस कई मायनों में खास है. इसमें पेशेंट को हार्ट अटैक के बाद शॉक देने वाली पोर्टेबल एडीआर मशीनें लगाई गई हैं. इस मशीन से मरीजों को शॉक दिया जाता है, और इससे हार्ट रेट वापस लाने में मदद की जा सकती है.

इस एम्बुलेंस में ऑक्सिजन सिलेंडर की सुविधा भी है जो इमरजेंसी के समय मरीजों को मदद करेगी. इसमें हॉर्ट पेशेंट के लिए जरूरी इंजेक्शन, जरूरी दवाएं, ईसीजी मशीन जैसे कई महत्वपूर्ण उपकरण भी उपबल्ध हैं.

तीन किलोमीटर का दायरा करेगी कवर

बाइक एम्बुलेंस एम्स से तीन किलोमीटर का दायरा कवर करेगी. यहां के मरीजों को ही इस एम्बुलेंस की सुविधा मिल सकेगी. इस एम्बुलेंस की सुविधा देने के लिए इसे कंट्रोल रूम से जोड़ा गया है.

एम्बुलेंस जैसे ही पेशेंट के पास पहुंचेगी इसके बाद हर जानकारी डॉक्टरों को दी जाएगी. इस कंट्रोल रूम में डॉक्टरों की टीम की तैनाती होगी. एम्बुलेंस में जरूरी सेवा मिलने के बाद पेशेंट को एम्स ले जाया जाएगा, ताकि उन्हें पूरा इलाज मिल सके.

पैरामेडिकल स्टाफ की भी भर्ती

इस एम्बुलेंस के लिए दो पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती की गई है. एम्स ने पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर चार बाइक एम्बुलेंस की शुरूआत की है. इसके लिए कुल 12 लोगों को भर्ती किया गया है.

Trending Tags- AIIMS, Bike Ambulance, ECG Machine, Heart Attack, Emergency, Health Emergency, Pilot Project, Para Medical

%d bloggers like this: