राम विलास पासवान को अंतिम विदाई, कल पटना में होगा अंतिम संस्कार

Ram Vilas Paswan Funeral
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का पार्थिव शरीर पटना लाए जाने की तैयारी शुरू हो चुकी है. उनका पार्थिव शरीर दिल्ली से स्पेशल हवाई जहाज से पटना एयरपोर्ट लाया जाएगा. पटना हवाई अड्डे से सीधे उन्हें विधानसभा ले जाया जाएगा, जहां पर अंतिम दर्शन होंगे.

इसके बाद उनके पार्थिव शरीर को पार्टी दफ्तर भी लाया जाएगा. जिससे कि उनके समर्थक अपने नेता के अंतिम दर्शन कर पाएंगे. वहीं इससे पहले आज उनके पार्थिव शरीर को 12 जनपथ स्थित उनके आवास पर लाया गया. जहां पीएम मोदी सहित कई केंद्रीय मंत्रियों ने उनके दर्शन किए.

आरके सिन्हा ने व्यक्त किया शोक

Ram Vilas Paswan Last Tribute
Ram Vilas Paswan Last Tribute

बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं हिन्दुस्थान समाचार के अध्यक्ष आरके सिन्हा ने भी राम विलास पासवान के निधन पर शोक व्यक्त किया. वे दिल्ली में नहीं थे, इसलिए उनके प्रतिनिधि के तौर पर हिन्दुस्थान समाचार के उपाध्यक्ष विशाल सिन्हा ने पासवान जी के अंतिम दर्शन किए. और चिराग पासवान एवं उनके परिवार को इस शोक की घड़ी में ढांढस बंधाया.

हमेशा छोटे भाई की तरह प्यार किया- आरके सिन्हा

राम विलास पासवान और आरके सिन्हा भले ही दो अलग-अलग पार्टी के नेता थे. लेकिन इन दोनों के बीच काफी गहरे और मधुर संबंध थे. आरके सिन्हा ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए बताया कि 1969 में जब रामविलास पासवान पहली बार संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी से बिहार विधानसभा के सदस्य चुनकर आए. तो उस वक्त मैं रिपोर्टिंग करता था. लेकिन उस समय से ही भाई-भाई का संबंध बन गया था.

सिन्हा ने बताया कि राम विलास पासवान ने मुझे हमेशा छोटे भाई की तरह प्यार किया. सिन्हा ने एक और किस्सा याद करते हुए बताया कि जब वे भी राज्यसभा का हिस्सा हुआ करते थे. और राम विलास पासवान मंत्री थे. तो वे आगे ना जाकर पीछे मेरे पास ही बैठ जाते थे. और वहीं से राज्यसभा की कार्यवाही में हिस्सा लेते थे.

बता दें कि रामविलास पासवान का लंबी बीमारी के बाद बीती शाम निधन हो गया. वे कई दिनों से एम्स में भर्ती थे. उनके बेटे और लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने निधन की जानकारी दी. पासवान के निधन से राजनीति जगत में शोक की लहर दौड़ गई.