PERIODS को लेकर मिथक होंगे दूर, स्कूलों में मिलेगी जानकारी
  • स्टूडेंट्स कई बार पीरियड्स के बारे में बात करने से काफी घबराती हैं. स्टूडेंट्स पीरियड्स के बारे में टीचर्स से खुलकर बात कर सकें
  • सरकार के सैनेटरी नैपकिन की योजना का फायदा स्टूडेंट्स को मिलेगा. इसके लिए कई स्कूलों की स्टूडेंट्स की टीम तैयार हो रही है

फीमेल हेल्थ को लेकर अगर शुरू से ही कार्य किया जाए तो काफी हद तक इससे जुड़े मिथकों को दूर किया जा सकता है. इन मिथकों को दूर करने के उद्देश्य से ही अब स्कूल स्तर पर स्टूडेंट्स को पीरियड्स से जुड़ी शिक्षा दी जाएगी.

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने पीरियड्स की क्लासेस को शुरू करने का फैसला किया है. इस फैसले के बाद माध्यमिक स्कूलों में पीरियड्स को लेकर क्लासेस शुरू की जाएंगी. इसकी तैयारी की जा रही है. जानकारी के अनुसार 45 मिनट तक क्लासेस चलेंगी.

8000 टीचर्स को मिलेंगी ट्रेनिंग

स्टूडेंट्स कई बार पीरियड्स के बारे में बात करने से काफी घबराती हैं. स्टूडेंट्स पीरियड्स के बारे में टीचर्स से खुलकर बात कर सकें इसके लिए बोर्ड 8000 टीचर्स को इसकी ट्रेनिंग दे रहा है. कुल 152 टीचर्स इन 8000 टीचर्स को ट्रेनिंग दे रहे हैं. ये टीचर्स हर शनिवार को 45 मिनट के लिए स्टूडेंट्स के साथ बात करेंगी. उन्हें पीरियड्स के बारे में बताएंगी.

ये ट्रेनर अपने-अपने जिलों के हर स्कूल में दो ट्रेनर तैयार करेंगी. इसके तहत महीने में एक शनिवार को अम्मा जी कहती हैं वीडियो दिखाना और कहानी सुनाकर इस मसले पर चर्चा की जाएगी.

हर स्टूडेंट को मिलेगा नैपकिन

सरकार के सैनेटरी नैपकिन की योजना का फायदा स्टूडेंट्स को मिलेगा. इसके लिए कई स्कूलों की स्टूडेंट्स की टीम तैयार हो रही है. हर क्लास में हर स्टूडेंट की लिस्ट निकाली जा रही है.

जब भी जरूरत होगी स्टूडेंस्ट को जरूरत होगी उन्हें सेनेटरी नैपकिन दिया जाएगा. शुरू में ये प्रोग्राम मीडिल स्कूल की स्टूडेंट्स के लिए शुरू किया गया है.

Trending Tags- Periods time | periods problem | periods pain killer | periods symptoms | periods blood | Periods bloating

%d bloggers like this: