एकांतवास केंद्र से प्रवासियों को कंडोम देकर घर भेज रही है बिहार सरकार

बेगूसराय, बिहार।

विभिन्न राज्यों से आकर एकांतवास (क्वारेन्टाइन) में रह रहे प्रवासियों को बढ़ती जनसंख्या पर रोक लगाने के लिए जागरूक किया जा रहा है. सभी को घर जाते समय दो-दो पैकेट कंडोम दिए जा रहे हैं, उसके महत्व तथा उपयोग के लिए अच्छी तरह से समझाया भी जा रहा है.

यह अभियान ना केवल पुरुष बल्कि महिला प्रवासियों के बीच भी चलाया जा रहा है. क्वारेन्टाइन सेंटर पर महिला प्रवासियों को महिला स्वास्थ्यकर्मी जनसंख्या नियंत्रण के लिए जागरूक कर रही हैं. महिला प्रवासियों को गर्भनिरोधक गोली के संबंध में जानकारी देकर घर जाते समय उन्हें उपलब्ध कराई जा रही है.

केयर इंडिया के सहयोग से चल रहे इस कार्यक्रम के तहत प्रवासी एकांतवास केंद्र में रहने के बाद अपने साथ कंडोम लेकर घर पहुंच रहे हैं. जिन लोगों को एकांतवास केंद्र पर यह नहीं मिल सका है, उन्हें स्वास्थ्य कर्मी घर-घर जाकर पहुंचा रहे हैं.

हालांकि किसी पर्व-त्योहार के समय में जब प्रवासियों की भीड़ बड़ी संख्या में घर वापस आती थी तो कंडोम का वितरण किया जा रहा जाता है लेकिन अब जब कोरोना वायरस के मद्देनजर लाखों की संख्या में प्रवासी अपने घर लौट रहे हैं तो जनसंख्या नियंत्रण एक बड़ा चिंता का विषय बन गया है.

विभिन्न स्वास्थ्य संगठनों ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अगले दिसम्बर से फरवरी तक बड़ी संख्या में बच्चों का जन्म होगा. एक साथ पैदा होने की संभावना वाले यह करोड़ों बच्चे सरकार और विभाग के लिए गले की फांस बनेंगे. ऐसे में बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा कंडोम और गर्भनिरोधक गोली का घर-घर वितरण किया जा रहा है. ताकि जनसंख्या वृद्धि की गति पर कुछ हद तक रोक लग सके.

मंगलवार की शाम तक बेगूसराय में 45 हजार से अधिक प्रवासी आ चुके हैं. इनमें से 20 हजार से अधिक प्रवासियों के बीच कंडोम वितरित किए जा चुके हैं. पीएचसी के स्वास्थ्य प्रबंधक मो. इमरान ने बताया कि परिवार नियोजन के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग द्वारा यह अभियान शुरू किया गया है.

हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र

Leave a Reply

%d bloggers like this: