बिहारः नबीनगर सीट से RJD ने डब्ल्यू सिंह को मैदान में उतारा, अब दिलचस्प मुकाबला

Dablu Singh
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

बिहार के चुनावी दंगल में धीरे-धीरे पहलवानों का इंतजार खत्म हो रहा है, मतलब धीरे-धीरे सभी दलों की ओर से अपने प्रत्याशियों का ऐलान किया जा रहा है. पहले चरण के लिए आरजेडी ने अपने उम्मीदवारों का नाम फाइनल कर लिया है. और पार्टी सिंबल देने का काम शुरू हो गया है.

पार्टी ने नबीनगर सीट से डब्ल्यू सिंह को मैदान में उतारा है. पार्टी सिंबल मिलने के बाद उन्होंने खुशी जाहिर की. सिंबल पाने के बाद उन्होंने लालू यादव का और तेजस्वी यादव का शुक्रिया अदा किया. HS News से बात करते हुए उन्होंने ना सिर्फ अपनी जीत बल्कि अपनी सरकार बनने का भी दावा किया.

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव जो बोलते हैं, वो उसे करने की क्षमता रखते हैं. उन्होंने कहा कि नौजवानों ने तेजस्वी पर जो विश्वास करने का काम किया है. आने वाले समय में हम लोग उसे पूरा करने का काम करेंगे. उन्होंने बेरोजगारी को सबसे बड़ा मुद्दा बताया.

डब्ल्यू सिंह ने कहा कि एनडीए की सरकार में बेरोजगारी काफी बढ़ गई है. हमारी सरकार आने पर सबसे पहले युवाओं को रोजगार देने का काम किया जाएगा. उन्होंने कहा कि तेजस्वी ने नौजवानों को आगे बढ़ाने का काम किया है. इस चुनाव में उनके द्वारा ज्यादातर नौजवानों को आगे बढ़ाने का काम किया जा रहा है. जो कि हर जाति-धर्म से आते हैं.

महागठबंधन में कई दलों के बाहर होने के सवाल पर डब्ल्यू सिंह ने कहा कि इससे महागठबंधन को कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. इस बार नीतीश कुमार का जाना तय है. बिहार की जनता ने परिवर्तन का मन बना लिया है.

दिलचस्प होगा मुकाबला

नबीनगर से आरजेडी ने डब्ल्यू सिंह को मैदान में उतारा है. ये अपने क्षेत्र में काफी ज्यादा सक्रिय रहते हैं. हमेशा लोगों के बीच ही रहते हैं. और लोगों के सुख-दुख में शामिल होते हैं. जिससे क्षेत्र की जनता इन्हें काफी पसंद करती है.

वहीं इस सीट पर अभी जेडीयू का कब्जा है. जेडीयू के बीरेंद्र कुमार सिंह इस सीट से विधायक है, और ये पिछले 10 साल से लगातार विधायक हैं. यानी बीरेंद्र कुमार यहां से लगातार 2 बार जीतकर विधानसभा पहुंच चुके हैं.

मुख्य समस्याएं

क्षेत्र की जनता के हिसाब से सड़क, नाली, पानी और गंदगी इस क्षेत्र की बड़ी समस्याएं हैं. इस विधानसभा क्षेत्र में पानी निकासी की भी कोई ठोस योजना नहीं है. जिसके कारण तकरीबन हर साल बारिश के मौसम में लोगों के घरों में पानी भर जाता है. पीएम मोदी जहां स्वच्छ भारत अभियान चला रहे हैं. वही इस सीट में गंदगी का भरमार है.

लोगों ने बताया कि पर्याप्त नालियों का निर्माण नहीं होने से सड़कों में गंदा पानी अक्सर भरा रहता है. साथ ही स्थानीय सड़कों की हालात काफी खराब है. स्वास्थ्य सेवाओं का हाल ऐसा है कि सरकारी अस्पताल खुद बीमार नजर आते हैं. इन कई मुद्दों पर ही यहां का चुनाव लड़ा जाना है.