लॉकडाउन के बाद से बंद भारत-बांग्लादेश सीमा बंगाल सरकार ने खोली

बंगाल सरकार ने केंद्र के निर्देश पर भी नहीं खोली थी भारत-बांग्लादेश सीमा

कोलकाता में लॉक डाउन के बाद 23 मार्च से बंद पश्चिम बंगाल से सटी भारत-बांग्लादेश सीमा आखिरकार शनिवार को खोल दी गई जिससे सामानों की आवाजाही सड़क परिवहन के जरिए शुरू हो गई है. पश्चिम बंगाल सरकार ने फूलबारी से सटी भारत-बांग्लादेश सीमा को खोल दिया है.

दरअसल लॉकडाउन के बाद भारत-बांग्लादेश के बीच अति जरूरी सामानों की आपूर्ति के लिए बड़ी संख्या में ट्रक भेजे गए थे जिसमें ऐसे सामान भी थे जो अधिक समय तक पड़े रहने पर खराब हो सकते थे. केंद्र के निर्देश के बावजूद पश्चिम बंगाल सरकार ने दोनों देशों की सीमाएं सील रखी थी. इसे लेकर केंद्रीय गृह सचिव ने राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा को एक चिट्ठी भी लिखी थी और भारत बांग्लादेश के बीच मधुर संबंधों का जिक्र करते हुए जल्द से जल्द सीमा खोलने का निर्देश दिया था.

बावजूद इसके पश्चिम बंगाल सरकार ने करीब एक माह तक सीमा बंद रखी. इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी लगातार ममता सरकार पर सवाल खड़ा कर रही थी. लैंड ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी को भारत-बांग्लादेश सीमा के बीच ट्रकों की आवाजाही शुरू करने का निर्देश दिया गया है. चालकों की एक टीम तैयार करने को कहा गया है जिन्हें स्टैंडबाय पर रखा जाएगा.

भारत-बांग्लादेश के बीच आने जाने वाले ट्रकों का अगर कोई भी चालक कोरोना पॉजिटिव निकलता है तो उसकी जगह स्टैंडबाय चालकों में से किसी एक को भेजा जाएगा. प्रोटेक्टिव सूट पहनकर सामान उतारना होगा और स्वास्थ्य प्रावधानों का ख्याल रखना होगा. चिट्ठी की प्रति केंद्रीय गृह मंत्रालय को भी भेज दी गई है.

हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/सुनीत

Leave a Reply

%d bloggers like this: