राम मंदिर पर टूट रहा सब्र : रामदेव

अयोध्या में राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर गरमा गया है.  विश्व हिंदू परिषद, आरएसएस और शिवसेना के शिवसैनिकों का अयोध्या में जमावड़ा लगा चुके है. कल अयोध्या में धर्म सभा होगी.
इस बीच बाबा राम देव ने भी राम मंदिर निर्माण पर अध्यादेश को लेकर केंद्र सरकार पर बनाए जा रहे मुद्दे पर अपनी स्थिति साफ कर दी है. बाबा रामदेव के अनुसार अब लोगों के सब्र का बांध टूट चुका है, इसलिए सरकार को कानून लाकर राम मंदिर निर्माण करना चाहिए
बाबा रामदेव ने कहा- ऐसा नहीं हुआ तो लोग अपने दम पर मंदिर बनाने लगेंगे और महौल खराब होगा.
रामदेव ने मीडिया से बातचीत में कहा कि “राम राष्ट्रीय का स्वभाव है, संस्कृति है स्वाभिमान है. हमारे जीवन की मर्यादा है, आचरण है, आदर्श है. वो हम सब का गौरव है और हिंदु-मुस्लिम सबके वंशज है. उन्होंने कहा कि मंदिर बनने का रास्ता साफ होना ही चाहिए, अब लोगों के सब्र का बांध टूट चुका है.”
रामदेव ने कहा- मुझे विश्वास है कि इस समय देश में राम का कोई विरोधी नहीं है, सभी हिंदू, मुस्लिम और ईसाई राम के वंशज है.
इससे पहले मुजफ्फरनगर में बाबा रामदेव ने कहा था कि राम मंदिर का निर्माण न होने पर विद्रोह सकता है. बाबा रामदेव ने कहा था कि राम मंदिर का रास्ता सुप्रीम कोर्ट से नहीं संसद से साफ होगा और सरकार को इस ओर कदम उठाना चाहिए.