गिलोय, अश्वगंधा और तुलसी से बनी “कोरोनिल” ऐसे देगी कोरोना को मात, जानिए इससे जुड़ी बडी बातें

3
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. पूरी दुनिया कोरोना वैक्सीन बनाने में लगी हुई है. पर अभी तक सफलता हाथ नहीं लगी है. ऐसे में योग गुरू बाबा रामदेव ने मंगलवार को कोविड19 (COVID19) की आयुर्वेदिक दवा को लॉन्च किया है. इसे कोरोनिल टैबलेट (Coronil) नाम दिया गया है. इस लांचिंग से लोगों के मन में उम्मीद जग गई है.

पहली आयुर्वेदिक क्लीनिकली कंट्रोल्ड, रिसर्च, प्रमाण और ट्रायल बेस्ड दवा – बाबा रामदेव ने 3 दवाओं की एक किट लॉन्च की. कोरोनिल के क्लीनिकल कंट्रोल्ड ट्रायल्स पतंजलि रिसर्च सेंटर और NIMS जयपुर ने मिलकर किए हैं. बाबा रामदेव का कहना है कि ये कोरोना के लिए पहली आयुर्वेदिक क्लीनिकली कंट्रोल्ड, रिसर्च, प्रमाण और ट्रायल बेस्ड दवा है.

रामदेव ने कहा कि पतंजलि ने खतरनाक वायरस के इलाज के लिए इस आयुर्वेदिक दवा को तैयार किया है. उन्होंने बताया कि इस दवा का सेवन करने पर रोगी पांच से 14 दिनों के भीतर ठीक हो जाता है.

दिव्य कोरोनिल टैबलेट के साथ मिलेगी श्वसारि वटी
पतंजलि के सीईओ बालकृष्ण के मुताबिक, ‘दिव्य कोरोनिल टैबलेट’ मंगलवार से मार्केट में उपलब्ध होगी. कंपनी इसके साथ श्वसारि वटी टैबलेट भी बेचेगी. श्वसारि रस गाढ़े बलगम को बनने से रोकता है.

बालकृष्ण ने बताया कि रेगुलेटर से अनुमोदन मिलने के बाद, इस दवा का क्लिनिकल ट्रायल इंदौर और जयपुर में किया गया है. उन्होंने कहा कि लोगों को दवा के सेवन के साथ-साथ योग भी करना चाहिए, ताकि रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहे.

दवा को बनाने में सिर्फ देसी सामान का इस्तेमाल –दवा की लॉन्चिंग के दौरान आचार्य बालकृष्ण और बाबा रामदेव ने बताया कि दवा को और भी प्रभावी बनाने के लिए जड़ी-बूटियों के साथ खनिजों का उपयोग किया है. इस आयुर्वेदिक दवा को बनाने में सिर्फ देसी सामान का इस्तेमाल किया गया है, जिसमें मुलैठी समेत कई चीजें शामिल हैं.

गिलोय, अश्वगंधा, तुलसी, श्वासारि का भी इस्तेमाल – इस दवा में गिलोय, अश्वगंधा, तुलसी, श्वासारि का भी इस्तेमाल इसमें किया गया है. गिलोए में पाने जाने वाले टिनोस्पोराइड और अश्वगंधा में पाए जाने वाले एंटी बैक्टीरियल तत्व और श्वासारि के रस के प्रयोग से इस दवा का निर्माण हुआ है.

घर बैठे मंगा सकते हैं कोरोनिल दवा- कोरोना का इलाज करने का दावा करने वाली कोरोनिल दवा को लोग घर बैठे भी मंगवा सकेंगे. इसके ऑर्डर करने के कुछ ही घंटे के अंदर दवा डिलिवर कर दी जाएगी. सोमवार को दवा के ऑनलाइन ऑर्डर के लिए एक मोबाइल ऐप ‘ऑर्डर मी’ लॉन्च की जाएगी, जिसके जरिए दवा खरीदी जा सकेगी. वहीं, जो लोग इसे ऑफलाइन स्टोर से खरीदना चाहते हैं, वे एक सप्ताह बाद पतंजलि के स्टोर से खरीद सकेंगे.