सोमवार को निकलेगी बाबा महाकाल की चौथी सवारी

उज्जैन. श्रावण मास में बाबा महाकाल हर सोमवार को अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए नगर भ्रमण पर निकलते हैं.

श्रावण मास के चौथे और आखिरी सोमवार 12 जुलाई को भगवान महाकालेश्वर की विशेष सवारी निकलेगी.

पालकी में चंद्रमौलेश्वर, हाथी पर मनमहेश, गरुड़ रथ पर शिव-तांडव और नंदी रथ पर उमा-महेश के स्वरूप में विराजमान होकर उज्जैन की प्रजा का हाल जानने निकलेंगे.

भगवान की सवारी मन्दिर से अपने निर्धारित समय शाम 4 बजे निकलेगी. मन्दिर के मुख्य द्वार पर सशस्त्र पुलिस बल के जवानों द्वारा भगवान मनमहेश को सलामी (गार्ड ऑफ ऑनर) दी जायेगी.

इसके बाद नगर के विभिन्न मार्गों से होते हुए भगवान महाकालेश्वर की पालकी रामघाट पहुंचेगी.

जहां शिप्रा नदी के जल से भगवान का अभिषेक और पूजन-अर्चन किया जायेगा. इसके बाद सवारी वापस मन्दिर पहुंचेगी. भगवान की पांचवी सवारी 19 अगस्त और अन्तिम शाही सवारी 26 अगस्त को निकाली जायेगी.

इससे पहले ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में रविवार को साप्ताहिक व सोमवार को ईद का अवकाश होने के कारण देशभर से श्रद्धालु शनिवार को ही उज्जैन पहुंचने लगे हैं.

इस दौरान करीब सवा लाख दर्शनार्थियों के आने की संभावना जताई गई है. भीड़ को देखते हुए इंतजाम भी किए गए हैं. रविवार तडक़े होने वाली भस्मारती दर्शन के लिए शनिवार दोपहर को ही बुकिंग फुल हो गई है.

नागपंचमी के बाद रविवार और सोमवार को महाकाल मंदिर में अत्यधिक भीड़ रहने का अनुमान है.

श्रावण मास का आखिरी सोमवार होने से भी देशभर से दर्शनार्थी राजाधिराज के दर्शन को उमड़ेंगे.
सवारी मार्ग पर भी आस्था का सैलाब उमड़ेगा. इंदौर, देवास व आगर रोड की ओर से कावडिय़ों के नगर प्रवेश का सिलसिला निरंतर जारी है.

हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा

Leave a Reply