फांसी हो जासूसी की सजा

RK Sinha

चीन के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार वरिष्ठ पत्रकार राजीव शर्मा की गिरफ्तारी ने इस ज्वलंत बहस को जन्म दे दिया है कि क्या पत्रकारों को कुछ भी करने की छूट मिली हुई है? क्या वे इस देश और यहां के कानून से ऊपर हैं? क्या अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर सब कुछ […]

बिहार के लिए एक अन्य एम्स का मतलब

AIIMS in Bihar

आप किसी दिन राजधानी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) का अचानक चक्कर लगा लें. आपको 50 फीसद रोगी बिहार से ही मिलेंगे. यह आंकड़ा बड़ा भी हो सकता है. ये दीन-हीन से गरीब लोग मारे-मारे इधर से उधर घूम रहे होते हैं. कहना न होगा कि बिहार में लचर स्वास्थ्य सुविधाओं के कारण बिहार […]

तो तैयार है भारत चीन से वार्ता और जरूरत पड़े तो दो-दो हाथ करने को भी- आर के सिन्हा

आर.के. सिन्हा लोकसभा में विगत 15 सितंबर को भारत-चीन के बीच चल रहे मौजूदा तनावपूर्ण संबंधों पर चर्चा और 56 साल पहले 14 अप्रैल, 1962 को भारत-चीन युद्ध के बाद हुई बहस में जमीन-आसमान का अंतर है. भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर जारी तनाव पर चीन को साफ […]

कितने दूध के धुले हैं उमर खालिद-आर के सिन्हा

आर.के. सिन्हा दिल्ली में इसी साल फरवरी में भड़काए गए दंगों के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू)के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद को अन्ततः गिरफ्तार कर ही लिया है. यह गिरफ्तारी गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) कानून के तहत की गई है. खालिद को 11 घंटे लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया […]

आओ मिलें हिन्दी के अनाम सेवियों से-आर के सिन्हा

आर.के.सिन्हा डीएमके पार्टी की सांसद कनिमोझी करुणानिधि को तो हिन्दी विरोध का कोई न कोई बहाना चाहिए होता है . पर आम और खास तमिल और बाकी समस्त दक्षिण भारतीय जनता तो हिन्दी को मन से और ह्रदय से अपनाने लगी हैं. उन्हें लगता है कि हिन्दी का सामान्य ज्ञान रखने में ही उनका लाभ […]

चंदा कोचरः अर्श से फर्श तक

RK Sinha

सच में जब समाज और देश के सम्मानित और प्रतिष्ठित नायक किसी गलत कृत्य के कारण फंसते हैं तो उनके प्रशंसकों का मन उदास हो जाता है. उनके गलत कामों से उनके चाहने वाले और उनसे प्रेरणा लेने वाले हजारों-लाखों लोग अपने को ठगा-सा महसूस करते हैं. आईसीआईसीआई (ICICI) बैंक की पूर्व प्रबंध निदेशक और […]

चीन से दो-दो हाथ करने को तैयार है नया भारत-आर के सिन्हा

RK-Sinha

आर.के.सिन्हा भारत के नए और आक्रामक तेवर को भी देख रहा चीन. उसे अब अच्छी तरह से समझ आ रहा है कि अब भारत भी उसकी गर्दन में हाथ डालकर जमीन में गिराने का जज्बा और शक्ति रखता है. भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रूस की राजधानी मॉस्को में विगत चार सितंबर को […]

स्वीडन और बेंगलुरु हिंसा की समानता को समझिए

Violence

संसार के सबसे सुखी देशों में स्वीडन की गिनती होती है. शांतिप्रिय लोग, अपराध शून्य के बराबर और सामूहिक उल्लास व जश्न मनाने के रिवाज के कारण न्यूनतम ईर्ष्या, द्वेष और आपसी हिंसा. करीब एक दशक पहले स्कैंडिनेवियायी देशों जैसे स्वीडन, फिनलैंड, डेनमार्क में इस्लाम की उपस्थिति नाममात्र की थी. वहीं सीरियाई अरब शरणार्थियों को […]

क्या भारत जंग की स्थिति में चीन-पाक को एक साथ देख लेगा

भारत और चीन सीमा पर तनाव अभी बरकरार ही है और भारत-पाकिस्तान के बीच भी गोला-बारूद चल ही रहे हैं. यानी भारत फिलहाल अपने दो घोर शत्रु देशों का सरहद पर एक साथ प्रतिदिन ही सामना कर रहा है. ये दोनों देश बार-बार साबित कर चुके हैं कि ये सुधरने वाले तो हरगिज ही नहीं […]

धोनी के खेल से संन्यास लेने पर क्यों उदास है देश- आर के सिन्हा

आर.के.सिन्हा महेन्द्र सिंह धोनी के पिछले 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास लेने से देश के करोड़ों क्रिकेट प्रेमियों से लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी कहीं न कहीं उदास हो गए. धोनी न तो किसी महानगर से आते थे और न ही किसी खास महत्वपूर्ण परिवार से संबंध रखते थे. इसके बावजूद धोनी ने […]