कोहली के शतक के बावजूद हारी टीम इंडिया, ख्वाजा ने खेली 104 रन की पारी

नई दिल्ली.ऑस्ट्रेलिया ने रांची में खेले गए तीसरे वनडे मुकाबले में भारतीय टीम को 32 रनों से शिकस्त दी. इस मुकाबले में मेहमान टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में 5 विकेट पर 313 रनों का बड़ा स्कोर बनाया.

मैच में पहले बल्लेबाजी करने उतरी मेहमान टीम के सलामी जोड़ी आरोन फिंच और उस्मान ख्वाजा ने पहले विकेट के लिए 193 रन की मजबूत साझेदारी कर टीम को शानदार शुरूआत दी. जिसकी बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने 5 विकेट पर 313 रन बनाए.

मैच में उस्मान ख्वाजा ने 104 रन की शतकीय पारी खेली. वहीं फिंच ने 99 गेंदों पर 93 रन बनाकर फॉर्म में वापसी की. टी20 सीरीज में बढ़िया खेल दिखाने वाले ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल ने भी 31 गेंदों पर 47 रन की आक्रामक पारी खेली.

ऑस्ट्रेलिया से मिले लक्ष्य के जवाब में भारतीय टीम कप्तान विराट कोहली (123) के वनडे करियर के 41वें शतक के बावजूद सभी विकेट खोकर 281 रन ही बना सकी. इस हार के बाद भी भारत के पास सीरीज में 2-1 की बढ़त है.

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत एक बार फिर खराब रही. शिखर धवन शिखर धवन (1) बनाकर आउट हुए. वहीं उनके जोड़ीदार रोहित शर्मा (14) पैट कमिंस की गेंद पर LBW आउट होकर पवेलियन लौट गए.

टीम इंडिया के मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाजों को खराब प्रदर्शन इस मैच में भी बदस्तूर जारी रहा. धोनी और अम्बाटी रायड़ू ने अगर जिम्मेदारी भरा खेल दिखाया होता तो भारत को इस मैच में हार का सामना न करना पड़ता.

भारतीय टीम के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजों ने इस मैच में साफ जाहिर कर दिया है कि वो वर्ल्डकप में भारत के लिए चिंता का सबब जरूर बनेंगे. हालांकि निचले क्रम पर बल्लेबाजी करने आएं विजय शंकर ने टीम को जीत दिलाने का भरसक प्रयास किया.

मगर जडेजा की धीमी बल्लेबाजी का असर की वजह से शंकर को तेजी से रन जुटानें के लिए कई रिस्की शॉट खेलने पड़े. जिसका खामियाजा उन्हें अपना विकेट गंवाकर चुकाना पड़ा. जबकि जडेजा टीम को अधर में छोड़ ऑउट हो गए.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली हार के बाद सब के जेहन में एक सवाल जरूर है कि दिनेश कार्तिक को लगातार बढ़िया प्रदर्शन के बाद भी टीम से बाहर क्यों किया गया. पिछले एक साल में कार्तिक ने मिडिल ऑर्डर में अपने उम्दा खेल की बदौलत टीम को कई दफा जीत दिलाई है.

फिलहाल भी ऑस्ट्रेलिया इस मैच में जीत के साथ सीरीज में 1-2 से पिछड़ा हुआ है. मेहमान टीम सीरीज के बाकि बचे मैच में वापसी कर अपनी खोई हुई साख को बचाने की कोशिश करेगी. जबकि भारत ऑस्ट्रेलिया को सीरीज में वापसी का कोई मौका नहीं देना चाहेंगा.

%d bloggers like this: