एक-दो बार नहीं बल्कि कई बार हो चुका है Kejriwal पर हमला, जानें कब-कब हुआ है उन पर अटैक?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) पर शनिवार (04 May) को एक बार फिर से हमला हो गया. केजरीवाल जब नई दिल्ली लोकसभा सीट पर से पार्टी प्रत्याशी ब्रजेश गोयल (Brijesh Goel) के लिए रोड शो कर रहे थे, तभी उन पर एक शख्स ने हमला कर दिया.

हमला करने वाले शख्स ने केजरीवाल की खुली जीप में चढ़कर उन्हें को थप्पड़ जड़ दिया. अब इस घटना पर पार्टी ने एक बार फिर से दिल्ली पुलिस पर हमला किया है. पार्टी ने ट्वीट करते हुए कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल की सुरक्षा में चूक हुई है. पार्टी ने इसके लिए बीजेपी पर आरोप लगाया है. थप्पड़ मारने वाले को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

इससे पहले भी केजरीवाल पर कई बार हमले हो चुके हैं.

कब-कब हुए केजरीवाल पर हमले

साल 2017 में एमसीडी के चुनाव के दौरान अरविंद केजरीवाल पर हमला हुआ था. उस दौरान करीब 100 लोगों ने केजरीवाल की कार को रोकने की कोशिश की. और लाठी और डंडों से उनकी कार पर हमला कर दिया था.

साल 2018 के नवंबर महीने में केजरीवाल पर एक शख्स ने मिर्च पाउडर से हमला कर दिया था. केजरीवाल जब दिल्ली सचिवालय के चेंबर से बाहर निकल रहे थे उसी वक्त एक शख्स ने उनपर मिर्च पाउडर से हमला कर दिया था. आरोपी ने कहा था कि उसने पुराना बदला लेने के लिए केजरीवाल पर हमला किया है.

2018 में ही पंजाब में उन पर हमला कर दिया गया था. कुछ लोगों ने उनके काफिले पर ही हमला बोल दिया था.

2019 में जब वे छत्रसाल स्टेडियम में ऑड-ईवन रूल की सफलता पर भाषण दे रहे थे तभी एक युवती ने उन पर स्याही फेंक दी थी. इसे उनकी पार्टी ने बीजेपी की हरकत बताई थी. और उनकी सिक्योरिटी को लेकर दिल्ली पुलिस को भी घेरा था.

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में जब वे वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव प्रचार कर रहे थे, तभी कुछ लोगों ने उन पर अंडों से हमला कर दिया था. इतना ही नहीं उन पर स्याही भी फेंकी गई. इस घटना के लिए भी उन्होंने बीजेपी पर दोषी ठहराया था.

2014 में ही केजरीवाल पर दिल्ली में चुनाव प्रचार के दौरान पर हमला हुआ था. दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके में एक ऑटो चालक ने उनको थप्पड़ जड़ दिया था.

हरियाणा के भिवानी में रोड शो के दौरान भी उन पर हमला किया गया था. उस दौरान एक शख्स ने उनको थप्पड़ मारने की कोशिश की थी. हालांकि वो थप्पड़ गाल पर ना पड़कर उनकी गर्दन पर पड़ा था.