बंगाल में नही थम रहे बीजेपी कार्यकताओं पर हमले

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा का दौर लगातार जारी है. दो अलग-अलग घटनाओं में एक बीजेपी कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या का मामला सामने आया है. इसके अलावा कूचबिहार में एक और मुर्शिदाबाद में दो तृणमूल कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या की कोशिश की गई है. पहली घटना राजधानी कोलकाता से सटे उत्तर 24 परगना के भाटपाड़ा विधानसभा क्षेत्र की है.

बीजेपी कार्यकर्ता को अज्ञात हमलावरों ने गोली मारी

पुलिस ने बताया कि कांकीनाड़ा सत दल मैदान के पास रात के समय 24 वर्षीय चंदन साव नाम के एक बीजेपी कार्यकर्ता को अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी है. सूचना मिलने के बाद बड़ी संख्या में बीजेपी कार्यकर्ता एकत्रित हुए और हमलावरों की तलाश में जुट गए.

इससे पूरे क्षेत्र में तनाव का माहौल बन गया था. जानकारी मिलने पर अतिरिक्त संख्या में पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंची है. सोमवार दोपहर तक पूरे क्षेत्र में हालात तनावपूर्ण है और पुलिस ने पिकेट लगाकर गश्ती बढ़ा दी है.

TMC दफ्तरों में लूटपाट

इसके अलावा कुचबिहार में राज्य के वन मंत्री विनायक कृष्ण बर्मन के काफिले पर हमला हुआ. तृणमूल के दफ्तरों में लूटपाट और एक तृणमूल कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या की कोशिश करने का मामला सामने में आया है. कूचबिहार जिले के पुंडीबारी इलाके में रविवार रात तृणमूल कार्यकर्ता प्रसनजीत विश्वकर्मा को अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या करने की कोशिश की है.

गंभीर हालत में प्रसनजीत को कूचबिहार मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती किया गया है. वो पेशे से मोटर बाइक का कारोबारी था. राज्य के पुलिस विभाग से जुड़े सूत्रों ने बताया कि कूचबिहार के दिनहाटा, जलपाईगुड़ी के पहाड़पुर और दक्षिण दिनाजपुर के गंगारामपुर से हिंसक घटनाओं की खबर है.

अधिकारियों ने बताया कि वन मंत्री विनय कृष्ण वर्मन के काफिले पर कथित तौर पर बीजेपी से जुड़े लोगों ने हमला किया. पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर मंत्री को वहां से सुरक्षित निकाला. ‌
भाटपाड़ा में चंदन साव की हत्या के बाद सूबे में तीन दिन के अंदर दो बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या का मामला सामने आया है. इससे पहले नादिया के चकदा में संतु घोष की हत्या की गई थी.

बैरकपुर पुलिस कमिश्नरेट की ओर से जारी बयान के मुताबिक, “हम घटनाओं पर गौर कर रहे हैं. कुछ स्थानों पर, हमने आवश्यक कार्रवाई की है. पुलिस पिकेट भी स्थापित किए गए हैं.
अतिरिक्त पुलिस बलों को उत्तर 24 परगना जिले के भाटपारा और कांकिनारा में भेजा गया है.जहां तृणमूल और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई है.

लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच टकराव की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं. तृणमूल ने आरोप लगाया कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बाकशिरहाट, महिशकुची, रामपुर और शालबारी में उसके दफ्तरों में तोड़फोड़ की.

मुर्शिदाबाद के डोमकाल में भी तृणमूल कांग्रेस के दो कार्यकर्ताओं को गोली मारे जाने की सूचना है. इधर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया है कि राज्य भर में बीजेपी कार्यकर्ताओं को तृणमूल कांग्रेस के लोग पुलिस के साथ मिलकर निशाना बना रहे हैं. उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर ये घटनाएं बंद नहीं हुई तो राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़ जाएगी.

हिन्दुस्थान समाचार/ ओम प्रकाश

%d bloggers like this: