1 जुलाई से बदलने वाले हैं ATM से कैश निकालने के नियम, जानिए आप पर क्या होगा असर

new-norms-notified-for-atm-cash-loading
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. कोरोना के कारण लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में अब बैंक अब आम आदमी की परेशानियों को बढ़ाने में लग गए हैं. दरअसल 1 जुलाई से एटीएम से कैश निकालने के नियम बदलने जा रहे हैं.

 कोरोना के कारण लोगों को पैसों की किल्लत की सामना करना पड़ रहा था. जिसे देखते हुए सरकार ने एक अहम कदम उठाया था. कोरोना और  लॉकडाउन की वजह से सरकार ने एटीएम से कैश निकालने के मामले ढील दी थी.

मार्च को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान करके एटीएम से पैसे निकालने पर चार्जेज को हटा दिया था. कर जितनी मर्जी बार कैश निकालने की सुविधा दी थी. वित्त मंत्री के इस फैसले की घोषणा से बैंकों ने एटीएम से कैश निकालने को पूरी तरह फ्री कर दिया था. मगर ये छूट 3 महीनों (अप्रैल से जून) के लिए दी गई थी.30 जून के बाद बैंक पुराने नियमों के तहत आपसे लिमिटेड फ्री एटीएम ट्रांजेक्शन के बाद शुल्क वसूल सकते हैं.

आपको बता दें कि एसबीआई मेट्रो शहरों में महीने में रेगुलर बचत खाताधारकों को 8 मुफ्त एटीएम लेन-देन की ही सुविधा देता है. इसके बाद वो हर निकासी पर पैसे वसूल करता है. इनमें 5 एसबीआई एटीएम और 3 किसी अन्य बैंक के एटीएम से फ्री लेन-देन शामिल होती हैं.

अब बात अगर नॉन-मेट्रो शहरों की जाये तो एसबीआई नॉन मेट्रो शहरों में 10 फ्री एटीएम लेन-देन की छूट देता है. जिनमें एसबीआई और अन्य बैंकों से 5-5 लेन-देन की जा सकती हैं. इसके बाद बैंक कैश लेनदेन के लिए 20 रुपये, जीएसटी और नॉन-कैश लेन-देन के लिए 8 रुपये और जीएसटी वसूलता है.