कोरोना, तूफान और अब आसमान से आफत! 6 जून को धरती की ओर तेजी से आ रहा है ये उल्का पिंड

नई दिल्ली. अंतरिक्ष में हर दिन हजारों लाखों गितिविधियां ऐसी होती है, जिसके बारे में हमारे पास कोई जानकारी नहीं होती…. लेकिन फिर भी कुछ ऐसी घटनाएं हैं, जिनको लेकर वैज्ञानिक की चिंताएं हमेशा बनी रहती है..

इसी में से एक है अंतरिक्ष में घुमते असंख्य एस्टेरोयड..जो कभी-कभी पृथ्वी के बेहद करीब से होकर गुजरते हैं और कभी-कभी टकरा भी जाते हैं…इससे काफी नुकसान होता है.

बड़ा उल्का पिंड पृथ्वी की ओर आ रहा- अब एक बार फिर से कुछ ऐसी ही संभावना जताई जा रही है कि 6 जून को ऐसा कुछ हो सकता है… एक बार फिर से एक बड़ा उल्का पिंड अपने पृथ्वी की ओर आ रहा है..इसकी जानकारी खुद नासा ने दी है…. बता दें कि 21 मई, 2020 को भी 1.5 किलोमीटर लंबा बड़ा उल्का पिंड धरती की कक्षा से काफी करीब होकर गुजरा था.

शनिवार को पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश कर रहा- नासा का कहना है कि हम कुछ दिनों से एक उल्का पिंड पर नजर रखे हुए हैं…. अब ये उल्का पिंड काफी तेजी से पृथ्वी के करीब आ रहा है….वैज्ञानिकों की मानें तो ये उल्का पिंड शनिवार को पृथ्वी की कक्षा के पास से गुजरेगा….

उल्का पिंड को दिया रॉक-163348 (2002 एनएन4) नाम- नासा के वैज्ञानिकों ने इस उल्का पिंड को एक नाम दिया है…. वैज्ञानिक ने इसका नाम रॉक-163348 (2002 एनएन4) रखा है….बता दें कि ये उल्का पिंड पृथ्वी की ओर 5.2KM प्रति सेकेंड की रफ्तार से बढ़ रहा है.. बताया जा रहा है कि इसकी लंबाई 250 मीटर और 570 मीटर के बीच हो सकती है.

घबराने की जरूरत नहीं- वैज्ञानिकों का कहना है कि किसी को घबराने की जरुरत नहीं है क्योंकि ये पृथ्वी के पास से गुजरने वाला है….नासा का कहना है कि रॉक-2002 एनएन 4 उल्का पिंड शनिवार को पृथ्वी की कक्षा के पास से जबकि रविवार सुबह 8 बजकर 20 मिनट पर पृथ्वी के पास से निकलेगा.

धरती से टकराने का कोई चांस नहीं- नासा ने इस उल्का पिंड को एटेन एस्ट्रयड के रूप में वर्गीकृत किया है, जो कि सूरज के पास से गुजरता हुआ धरती की कक्षा में दाखिल हो रहा है…नासा के मुताबिक, इस उल्का पिंड का धरती से टकराने का कोई चांस नहीं है….लेकिन फिर भी इस पर ख़ास नज़र रखी जा रही है.

साल 2024 में गुजरेगा बड़ा उल्का पिंड- नासा की मानें तो कभी-कभी गुरुत्वाकर्षण के चलते इस तरह के उल्का पिंड धरती के वातावरण में आखिरी वक़्त पर भी प्रवेश कर जाते हैं… अब साल 2024 में ही धरती के इतने पास से इतना बड़ा कोई उल्का पिंड गुजरेगा.

Leave a Reply

%d bloggers like this: