राजस्थानः मुख्यमंत्री गहलोत बोले- अगर कोई मुझसे नाराज है तो उसको दूर करना मेरी जिम्मेदारी

Ashok Gehlot
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

जयपुर, राजस्थान।

सचिन पायलट की कांग्रेस में वापसी के बाद मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि 100 से अधिक लोगों को एकसाथ एकजुट रखना इतिहास बन गया है. बीजेपी ने पूरा षडयंत्र किया, लेकिन एक आदमी इधर से उधर नहीं हुआ.

गहलोत ने कहा कि मैंने विधायकों से कहा है कि जब तक मैं जिंदा हूं, अभिभावक के रूप में खड़ा रहूंगा. उन्होंने कहा कि विधायकों की नाराजगी दूर करना उनकी जिम्मेदारी है. कांग्रेस पार्टी पूरे 5 साल राजस्थान में सरकार चलाएगी.

मुख्यमंत्री मंगलवार को जैसलमेर जाने से पहले जयपुर एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. उन्होंने कहा कि पार्टी में भाईचारा बरकरार है. कांग्रेस आलाकमान ने एक फार्मूला तय किया हैं, इसमें तीन सदस्यों की कमेटी बनाई गई है, जो सभी विवादों को सुलझाएगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने चुनी हुई सरकार को गिराने का जो षडय़ंत्र रचा हैं, उनके मंसूबों पर पानी फिर गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान की जनता ने भी सहयोग दिया है. ऐसे में बीजेपी नेताओं की धज्जियां उड़ गई हैं. सरकार बहुमत में पहले भी थी और अब भी है और आगे भी रहेगी. उन्होंने कहा कि जो लोग आए वो किन परिस्थितियों में गए थे, मेरे से क्या नाराजगी है, उसे जानने के प्रयास किए जाएंगे. अगर कोई मुझसे नाराज है तो उसको दूर करना मेरी जिम्मेदारी है.

मुख्यमंत्री गहलोत ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा धर्म के नाम पर लोगों को बांटकर चुनाव जीतने का षडय़ंत्र करती रही है. केन्द्र सरकार द्वारा इनकम टैक्स और सीबीआई का दुरुपयोग किया जा रहा है. हमारी सरकार 5 साल पूरे करेगी, अगला चुनाव भी जीतेगी.

हिन्दुस्थान समाचार/रोहित