सुलग उठा अरुणाचल प्रदेश, PRC पर भड़की हिंसा, इंटरनेट बंद

नई दिल्ली. स्थाई निवास प्रमाण पत्र (PRC)के मुद्दे पर अरुणाचल प्रदेश सुलग उठा है. कई आदिवासी संगठनों ने इस दौरान उपद्रव किया है. इस बंद के बाद राज्य में तनाव के हालात हैं और इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है.

अरुणाचल प्रदेश में स्थायी निवास प्रमाण पत्र (पीआरसी) के मुद्दे पर माहौल गरमा गया है. गैर-अरुणाचलवासियों को पीआरसी देने के मुद्दे पर एक सरकारी समिति के प्रस्तावों में बदलाव की मांग पर छात्र और नागरिक समाज संगठनों की ओर से बुलाए गए 48 घंटे के बंद के दौरान यहां आम जनजीवन प्रभावित रहा.

हितधारतों के साथ बातचीत के बाद संयुक्त उच्च अधिकार समिति ने उन छह समुदायों को पीआरसी देने की सिफारिश की थीमीडिया रिपोर्टस के मुताबिक गैर-अरुणाचलवासियों को पीआरसी देने को लेकर एक सरकारी समिति के प्रस्तावों में बदलाव किए जाने की मांग हो रही है.

बंद के दौरान कई हिस्सों में हिंसा और आगजनी की घटनाएं भी हुईं. राजधानी ईटानगर में 18 छात्र संगठनों और सामाजिक संगठनों को इस बंद का समर्थन हासिल है.

इस प्रस्ताव से कई समुदाय आधारित समूहों और छात्रों के बीच असंतोष पैदा हो गया है, जिन्होंने दावा किया था कि अगर राज्य सरकार इसे स्वीकार करती है तो यह स्थानीय लोगों के अधिकारों और हितों से समझौता होगा.

दो दिवसीय बंद के पहले दिन आंदोलनकारी राज्य की राजधानी में सड़कों पर उतरे और उन्होंने सरकारी वाहनों पर पथराव किया. पुलिस ने इनमें से 21 आंदोलनकारियों को हिरासत में लिया है.

आंदोलनकारियों ने मांग की है कि सरकार जेएचपीसी की सिफारिशों पर फिर से विचार करे. इन सिफारिशों को सदन के अंतरिम बजट सत्र के दौरान विधानसभा में रखा जाना है.

%d bloggers like this: