कोई भी स्ट्रीम का छात्र अब बन सकेगा नर्स, लागू हुआ नया नियम

  • अब आर्ट्स-कॉमर्स के छात्रों को भी बीएससी नर्सिंग करने का मौका मिलेगा. अबतक सिर्फ बायोलॉजी के छात्र ही बीएससी नर्सिंग का कोर्स करने के लिए एलिजिबल होते हैं.
  • ऐसा खास तौर से साइंस फिल्ड के छात्रों के लिए कहा जाता था. मगर अब आर्ट्स-कॉमर्स के छात्रों के लिए भी एक खुश खबरी है.

अबतक आपने सुना होगा कि कुछ खास सबजेक्ट को कुछ खास लोग ही पढ़ सकते हैं. ऐसा खास तौर से साइंस फिल्ड के छात्रों के लिए कहा जाता था. मगर अब आर्ट्स-कॉमर्स के छात्रों के लिए भी एक खुश खबरी है.

अब आर्ट्स-कॉमर्स के छात्रों को भी बीएससी नर्सिंग करने का मौका मिलेगा. अबतक सिर्फ बायोलॉजी के छात्र ही बीएससी नर्सिंग का कोर्स करने के लिए एलिजिबल होते हैं. ये मौका उन छात्रों के लिए बहुत अच्छा है जो मेडिकल लाइन में अपना करियर बनाना चाहते हैं. आमतौर पर हर छात्र को मेडिकल लाइन में करियर बनाने का मौका नहीं मिल पाता है.

हालांकि आर्ट्स और कॉमर्स से 12th क्लास करने वाले छात्रों के 45% मार्क्स होने जरूरी हैं. यानी कि अगर किसी छात्र के 12th में 45% मार्क्स होंगे तो वो आसानी से नर्सिंग कोर्स में एडमिशन ले पाएगा.

काउंसिल ने तैयार किया सिलेबस

दरअसल इंडियन नर्सिंग काउंसिल ने बीएससी नर्सिंग का देशभर में एक कॉमन सिलेबस तैयार किया है. इसके लिए एक प्रस्ताव तैयार हुआ है. काउंसिल ने इसके संबंध में कई प्रतिक्रियाएं और सुझाव भी मंगाए हैं. ये प्रतिक्रियाएं और सुझाव 24 जनवरी 2020 तक ईमेल के जरिए भेजनी होंगी.

ऐसा होगा प्रोग्राम

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बीएससी नर्सिंग प्रोग्राम कुल चार साल का होगा. इस प्रोग्राम में कुल 8 सेमेस्टर होंगे. छात्रों के लिए पूरे कोर्स में ऐसा सिलेबस तैयार किया गया है कि इस प्रोग्राम को करने के बाद छात्र नर्स बनने के लिए पूरी तरह से योग्य हो जाते हैं. यानी की छात्र किसी भी चिकित्सालय, सरकारी अस्पताल, डिस्पेन्सरी में नर्स की ड्यूटी निभाने के लिए योग्य होते हैं.

Trending News: Latest News In Hindi | Hindi News | Aaj Ki Taza Khabar

Leave a Reply

%d bloggers like this: