आयुष्मान खुराना ने क्यों उठाए लोगों की औकात पर सवाल…ARTICLE 15 ट्रेलर रिलीज

एक्टर आयुष्मान खुराना की फिल्म आर्टिकल 15 का ट्रेलर रिलीज हो गया है. फिल्म को अनुभव सिन्हा ने डायरेक्ट किया है. अनुभव इससे पहले फिल्म को मुल्क को डायरेक्ट कर चुके हैं. फिल्म 28 जून को रिलीज हो रही हैं.

फिल्म के पोस्टर्स पहले ही फैंस के बीच काफी पॉपुलर हो चुके हैं. इस पोस्टर में आयुष्मान खुराना पुलिसवाले के रोल में नजर आ रहे हैं. चलिए आपको बताते हैं कैसा आर्टिकल 15 का ट्रेलर

आर्टिकल 15 ट्रेलर

आर्टिकल 15 में आयुष्मान खुराना एक पुलिवाले को रोल में नजर आ रहे हैं. जो एक गांव में एक केस की तहकीकात के लिए आया है. इस गांव में आज भी जाति भेदभाव बहुत ज्यादा है. इसी भेदभाव के कारण दो लड़कियों को मारकर पेड़ पर लटा दिया जाता है. ये सीन आपको यूपी के बदायूं में हुए डबल मर्डर केस की याद दिला सकता है.

फिल्म में इस बात पर फोकस करने की कोशिश की गई है कि भारत के संविधान में लिखे आर्टिकल 15 यानी की समानता के अधिकार को देश में कितना माना जाता है. क्या सिर्फ आर्टिकल बना देने से लोग उसे मन से भी अपना लेते है.

ट्रेलर में एक सीन है जहां केस की तहकीकात के दौरान आयुष्मान खुराना अपने साथियों से कहते ब्राह्मण-ब्राह्मण एक ही हुए ना. जिस पर उनके साथी कहते नहीं वो उच्च कोटि के ब्राह्मण है और आप निम्न कोटि के. ये सब सुनकर आयुष्मान को गुस्सा आ जाता है. वो इस बात को नहीं समझ पा रहे कि लोग इस तरह से कैसे इंसानों को बांट सकते है.

ट्रेलर में आयुष्मान का कैरेक्टर काफी स्ट्रांग दिखाया गया है. साथ ही ट्रेलर फिल्म के नाम को भी पूरी तरह जस्टिफाई कर रहा है.   

बता दें आयुष्मान खुराना ने फिल्म आर्टिकल 15 के ट्रेलर से पहले एक वीडियो शेयर किया था. जिसमें वो ये कहते नजर आ रहे हैं कि “आपकी औकात आपको ये ट्रेलर देखने की अनुमति नहीं देता.”