NDA में शामिल हो सकते हैं जगन मोहन रेड्डी

PM Modi-Jagan Mohan Reddy
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नए कृषि बिलों को लेकर अकाली दल जिस तरह से एनडीए को छोड़कर बाहर हो गई थी. उससे लग रहा था कि अब संसद में मोदी सरकार थोड़ी कमजोर हो जाएगी, लेकिन ऐसा होता दिख नहीं रहा है. एनडीए की ताकत को बढ़ाने के लिए जल्द ही आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआर कांग्रेस एनडीए का हिस्सा हो सकती है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री इन दिनों दिल्ली में हैं. और लगातार बीजेपी नेताओं के संपर्क में हैं. जानकारी के मुताबिक वे एनडीए का हिस्सा बनने के लिए ही दिल्ली गए हुए हैं. दिल्ली में वे एनडीए में शामिल होने से पहले पीएम मोदी से मुलाकात कर सकते हैं. इस दौरान वे आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग कर सकते हैं.

जानकारी के मुताबिक बीजेपी काफी लंबे समय से जगन मोहन रेड्डी को एनडीए में लाने की कोशिश कर रही है. बीजेपी की ओर से उन्हें को एक कैबिनेट मिनिस्ट और तकरीबन दो राज्य मंत्रियों की सीट देने का भी ऑफर दिया गया है. वहीं जगन मोहन आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य का दर्जा लेने की मांग पर अड़े हैं.

शिवसेना और अकाली दल की कमी पूरी होगी !

जिस तरह से महाराष्ट्र चुनाव के बाद शिवसेना और नए कृषि बिलों को लेकर अकाली दल बीजेपी से नाराज होकर एनडीए से बाहर हो गई थी. उससे एनडीए की ताकत काफी कम हो गई थी. लोकसभा में शिवसेना के 18 सांसद हैं, जबकि अकाली दल के 2 सदस्य हैं.

वहीं यदि वाईएसआर कांग्रेस एनडीए का हिस्सा बनती है. तो वो अकेले दोनों दलों की कमी को भर सकती है. ऐसे में संसद में मोदी सरकार फिर से पहले की तरह ही मजबूत हो जाएगी. इसके अलावा यूपीए की सदस्यों की संख्या में कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई है. अन्य की संख्या में जरूर बढ़ोत्तरी हुई है, लेकिन ज्यादातर मौकों पर वे सरकार का साथ देते हैं.