वाकई बबुआ साबित हुए अखिलेश

संजय सिंह

अपने पिता मुलायम सिंह यादव की सियासी समझ को नजरअंदाज करते हुए सपा की धुर विरोधी बसपा से गठबंधन करना अखिलेश को बेहद भारी साबित हुआ है. 

दलित- पिछड़ा और मुस्लिम वोटबैंक का हवाला देते हुए बीजेपी को बड़ा नुकसान पहुचाने की बयानबाजी हो रही थी, लेकिन मोदी मैजिक के आगे सब कुछ ढेर हो गया. सपा को तो बड़ा नुकसान उठाना पड़ा.

पिछड़ों और दलितों की लामबंदी नहीं हो पाने की वजह से गठबंधन उसके किसी काम नहीं आया. जिस दलित और पिछड़ा समीकरण पर उसे सबसे ज्यादा ऐतबार था, वह धरातल पर कहीं नहीं दिखा.

उल्टे गैर यादव, पिछड़े, गैर जाटव और एससी वोटों को बीजेपी अपने पक्ष में करने में सफल रही. अमित शाह की बात भी सही साबित हुई कि चुनाव अंकगणित से नहीं कैमिस्ट्री से जीता जाता है.

इस चुनाव में भाजपा को 62 सीटें मिलने के साथ 49.56 प्रतिशत मत मिले. वहीं उसकी सहयोगी अपना दल-एस को दो सीटें मिलीं. 

बसपा को 10 सीटों के साथ 19.26 %, सपा को 5 सीटों के साथ 17.96% और कांग्रेस को एक सीट के साथ 6.31% वोट मिले. इसके अलावा आगरा उत्तर और निघायन विधानसभा उपचुनाव में भी बीजेपी उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की.

2014 में मोदी लहर के बावजूद मुलायम कुनबा अपने परिवार की सीटें बचाने में कामयाब हुआ था, लेकिन इस बार मायावती का साथ मिलने के बावजूद अखिलेश उसे भी गंवा बैठे.

कहने को सिर्फ सपा का पांच सीटे जीतने का पुराना आंकड़ा बरकरार रहा. वहीं मायावती के लिए ये फायदे का सौदा रहा. 2014 में शून्य सीटों से इस बार वह 10 सीटों तक पहुंचने में सफल रही. 

अखिलेश के सियासी फैसलों को देखें तो प्रदेश में 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने राहुल गांधी से हाथ मिलाया था. तब दोनों पार्टियों ने ‘यूपी को ये साथ पसन्द है’ का जमकर नारा लगाया. 

हालांकि चुनाव नतीजों में भाजपा ने धमाकेदार प्रदर्शन करके पूर्ण बहुमत हासिल किया. 2019 आते-आते अखिलेश का राहुल से मोहभंग हुआ और कैराना, गोरखपुर, फूलपुर लोकसभा उपचुनावों के रिजल्ट को आधार मानते हुए उन्होंने कभी उनको बबुआ कह कर तंज कसने वाली मायावती से हाथ मिलाया.

यहां तक कि उन्होंने अपने पिता मुलायम सिंह यादव की नाराजगी तक की परवाह नहीं की. बसपा ने 38, सपा ने 37 और रालोद ने 03 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे. वहीं रायबरेली और अमेठी सीट कांग्रेस के लिए छोड़ दी गई.

पूरा लेख पढ़ें युगवार्ता के 02 जून के अंक में…

Leave a Comment

%d bloggers like this: