सिद्धू पर पंजाब विधानसभा में जबरदस्‍त हंगामा, अकाली दल ने जलाए पुतले, सिद्धू अभी भी बयान पर कायम

नई दिल्ली. पंजाब विधानसभा में आज जबरदस्त हंगामा हुआ. पुलवामा में आतंकी हमले पर सिद्धू के बयान पर विपक्ष ने सवाल उठाते हुआ शोर-शराबा किया.

सदन में मुख्यमंत्री पंजाब मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पुलवामा आतंकी हमले को लेकर निंदा प्रस्ताव पारित किया. हालांकि, इस दौरान सदन में नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ नारेबारी भी हुई.

इसके बाद सिद्धू ने एक बार फिर दोहराया कि वह अपने बयान पर कायम है कि आतंक की कोई जाति, धर्म और कौम नहीं होता. उन्होंने पुलवामा आतंकी हमले की आलोचना तो की लेकिन पाकिस्तान का कोई जिक्र नहीं किया.

पंजाब विधानसभा में बजट पेश किए जाने से पहले पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम मजीठिया ने पाकिस्तान और कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ नारेबाजी की. इस दौरान पाकिस्तान के झंडे को भी जलाया गया.

पंजाब विधानसभा के बाहर अकाली दल के विधायकों, पूर्व मंत्री और अकाली दल नेता बिक्रम सिंह मजीठिया के नेतृत्व में नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ नारेबाजी की गई. मजीठिया ने कहा कि सिद्धू पाकिस्तान की चमचागिरी कर रही है.

मजीठिया ने नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान दौरे के दौरान सामने आईं पाक आर्मी चीफ जनरल बाजवा से गले मिलने और खालिस्तान समर्थक गोपाल चावला के साथ की तस्वीरों को आग लगा दी.

दरअसल प्रश्‍नकाल में नवजोत सिंह सिद्धू सदन में गुरकीरत कोटली के सवाल के जवाब दे रहे थे तभी शिअद के विधायकों ने उनके खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी.

शिअद विधायकों ने सिद्धू पर पाकिस्तान का पक्ष लेने का आरोप लगाया. शिअद के बिक्रम सिंह मजीठिया ने सिद्धू पर जमकर हमला किया.

सिद्धू ने भी मजीठिया को जवाब दिया और दोनों नेताओं में तीखी नोकझाेक हो गई. नौबत यहां तक आ गई कि सिद्धू ने बाहें चढ़ा ली.

अकाली दल चाहता है कि पहले पंजाब सरकार नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर अपना स्टैंड साफ करे. उसके बाद ही पंजाब विधानसभा में बजट पेश होने दिया जाएगा. नहीं तो अकाली दल लगातार नवजोत सिंह सिद्धू को कैबिनेट और कांग्रेस से बर्खास्त करने की मांग को लेकर प्रदर्शन करता रहेगा.

पंजाब के कैबिनट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू जम्मू-कश्‍मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 44 जवानों के शहीद होने के बाद भी पाकिस्‍तान का बचाव करने के कारण देशभर में निशाने पर हैं.

ऐसे में उनकी पत्‍नी डॉ. नवजोत कौर सिद्धू उनके बचाव में सामने आई हैं. उन्होंने कहा कि सिद्धू ने दो देशों में होने वाले युद्ध को गलत ठहराया था, न कि आतंक के खिलाफ लड़ाई को. इसके साथ ही कांग्रेस की पंजाब प्रभारी आशा कुमारी ने भी सिद्धू का बचाव किया है.

%d bloggers like this: