'स्वर्ण मंदिर' के नाम से अकाल तख्त को है ये ऐतराज..

  • सिख धर्म की सर्वोच्च संस्था अकाल तख्त ने ‘स्‍वर्ण मंदिर’ के नाम पर सवाल उठाया है. नैशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने एक साइन बोर्ड पर ‘सुनहरी मंदिर’ लिख दिया था
  • नैशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के उस साइन बोर्ड के बाद आया है जिसे पवित्र धर्मस्‍थल की ओर जाने वाले रास्‍ते पर लगाया गया था

नई दिल्ली. पंजाब के अमृतसर में स्थित स्वर्ण मंदिर के नाम बदलने की कवायद अब तेज हो गई है. सिखों की सर्वोच्‍च संस्‍था अकाल तख्‍त ने कहा है कि ‘स्‍वर्ण मंदिर’ या ‘गोल्‍डन टेंपल’ की जगह सचखंड श्री हरमंदिर साहब कहा जाए.

सिख धर्म की सर्वोच्च संस्था अकाल तख्त ने ‘स्‍वर्ण मंदिर’ के नाम पर सवाल उठाया है. नैशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने एक साइन बोर्ड पर ‘सुनहरी मंदिर’ लिख दिया था.

सिखों को कड़े निर्देश- पंजाब में अमृतसर स्थित श्री हरमंदिर साहिब को लेकर श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने सिखों को कड़े निर्देश दिए हैं, जिनका पालन करना बेहद जरूरी है.

गोल्डन टेंपल की जह कहा जाए सचखंड श्री हरमंदिर साहब- सिख धर्म की सर्वोच्च संस्था अकाल तख्त ने दुनिया भर के सिखों से कहा है कि वे अपने प्रमुख धर्मस्‍थल को ‘स्‍वर्ण मंदिर’ या ‘गोल्‍डन टेंपल’ की जगह सचखंड श्री ह‍रमंदिर साहब या श्री दरबार साहिब या श्री अमृतसर कहें.

लगाया गया बोर्ड- ये निर्देश नैशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के उस साइन बोर्ड के बाद आया है जिसे पवित्र धर्मस्‍थल की ओर जाने वाले रास्‍ते पर लगाया गया था. इस‍ पर लिखा गया है- ‘सुनहरी मंदिर’ जो ‘गोल्‍डन टेंपल’ का शाब्दिक अनुवाद है.

अकाल तख्‍त के जत्‍थेदार का कहना है कि ‘गोल्‍डन टेंपल’ कहने से सिखों की धार्मिक भावनाएं आहत होती हैं. ‘दरबार साहिब मंदिर नहीं है बल्कि सिखों को पवित्र धर्मस्‍थल है.’

जत्‍थेदार ने शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (एसजीपीसी ) को निर्देश दिया है कि वो आईपीसी की धारा 295 ए (किसी वर्ग के धर्म का अपमान करने के इरादे से पूजा स्‍थल या पवित्र स्‍थल को नष्‍ट करना या नुकसान पहुंचाना) के तहत डेरा अनुयायी के खिलाफ मामला दर्ज करे.

जब श्री हरमंदिर साहिब के निर्माण पर विचार किया गया, तो फैसला हुआ था कि इस मंदिर में सभी धर्मों के लोग आ सकेंगे. इसके बाद सिखों के पांचवें गुरु अर्जन देव जी ने लाहौर के सूफी संत साईं मियां मीर से दिसंबर 1588 में गुरुद्वारे की नींव रखवाई थी.पूरा अमृतसर शहर स्वर्ण मंदिर के चारों तरफ बसा हुआ है.

Trending Tags- Aaj ka Samachar, News Today, Golden Temple, Punjab, SGPC, Amritsar, Akal Takat, Akal Takht, Hindi Samachar, Hindi News.

%d bloggers like this: