बेगूसराय के 560 प्रवासियों को प्रशिक्षित करेगा भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद

बेगूसराय, 03 जुलाई (हि.स.). कोरोना वायरस के कारण अन्य प्रदेशों से आए प्रवासी युवाओं तथा श्रमिकों को कृषि विज्ञान केंद्र बेगूसराय में निःशुल्क रोजगार प्रशिक्षण दिया जाएगा. इस संबंध में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली द्वारा कृषि विज्ञान केंद्र बेगूसराय को जिले के 560 प्रवासियों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य दिया गया है.

विभिन्न रोजगार उन्मुख विषयों पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन जुलाई से सितम्बर तक किया जाएगा. कृषि विज्ञान केंद्र बेगूसराय के वरीय वैज्ञानिक एवं प्रधान डॉ. सुनीता कुशवाहा ने शुक्रवार को यह जानकारी पत्रकारों को दी. उन्होंने बताया कि कोविड-19 के कारण क्षेत्र के सैकड़ों युवा तथा श्रमिक अपना-अपना रोजगार छोड़कर घर पहुंचे हैं.

वह अभी बेरोजगार की जिंदगी जीने पर मजबूर हैं, इसके कारण उनकी आर्थिक स्थिति चिंताजनक हो गई है. गांव में ही अपना रोजगार करना चाहने वाले युवाओं की आवश्यकता को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत देश के 116 जिलों में अभियान प्रारंभ किया है. 

इसी उद्देश्य से भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली द्वारा बेगूसराय के 560 प्रवासी एवं श्रमिकों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य दिया गया है. एक प्रशिक्षण में 35 प्रतिभागी को चयनित किया जाएगा तथा सभी निःशुल्क एवं तीन दिवसीय होगा. उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत कृषि यंत्रीकरण, मशरूम उत्पादन, केंचुआ खाद उत्पादन, मधुमक्खी पालन, मिट्टी जांच, समेकित कृषि प्रणाली आदि विषय पर अलग-अलग प्रशिक्षण दिया जाएगा.

 डॉ. कुशवाहा ने बताया कि इसके लिए निबंधन का कार्य कृषि विज्ञान केंद्र में शुरू कर दिया गया है. स्वरोजगार करने को इच्छुक कोई भी लोग आधार कार्ड के साथ आकर कार्यालय में निबंधन करवा सकते हैं. निबंधन के आधार पर पहले आओ पहले पाओ के तहत प्रशिक्षण का आयोजन किया जाएगा. 

हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/चंदा

Leave a Reply

%d bloggers like this: