Meena Mangal

अफगानिस्तान की सांसद और पूर्व महिला पत्रकार की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई है. ये घटना शनिवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में घटी थी. फिलहाल मामले की जांच जारी है.

आंतरिक मंत्रालय की प्रवक्ता नसरत रहीमी के अनुसार मंगल की दिन दहाड़े पूर्वी काबुल में गोली मारकर हत्या की गई. शनिवार सुबह काम पर जाते समय उनकी हत्या हुई थी.अभी तक मृतक मीना मंगल की मौत की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है और ना ही उनकी मौत के कारण का पता चल सका है. उन्होंने कहा कि मामले की छानबीन चल रही है.

मृतक मीना मंगल ने पत्रकारिता छोड़ दी थी और संसद में सांस्कृतिक सलाहकार के तौर पर काम कर रहीं थी.

पुलिस को आशंका है कि हत्यारे गोली मारकर घटनास्थल से फरार हो गए. पुलिस ये पता लगाने में जुटी है कि आखिर महिला की हत्या की गई है या फिर ये आतंकी गतिविधि है अथवा आपसी रंजिश हत्या की वजह बनी है.

अफगानिस्तान में महिलाओं के खिलाफ अपराधों की फेहरिश्त बहुत लंबी है. अफगान सरकार ऐसे कानून को प्रभाव में नहीं ला पा रही जो महिलाओं की हत्या, उनके साथ मार पीट, बलात्कार और दूसरी तरह की हिंसा को रोक सके. यहां महिलाओं पर हिंसा के बहुत कम मामलों में ही दोषियों को सजा हो पाती है.

अफगानिस्तान को हमेशा से महिलाओं के साथ होने वाले अपराध में सबसे ऊपर रखा जाता रहा है. यहां निरक्षर महिलाओं की संख्या 87 फीसदी है, जबकि 70 से 80 फीसदी महिलाओं की जबरन शादी की जाती है. 54 फीसदी महिलाओं की शादी 15 से 19 की उम्र में ही हो जाती है. इसके अलावा भारी संख्या में महिलाएं घरेलू हिंसा की शिकार भी होती हैं.