Uttarakhand: प्रशासन ने दुकानों से अवैध कब्जा हटाकर वैध दुकानदारों को सौंपा

dukan
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

हरिद्वार . पिरान कलियर में लम्बे समय से नीलामी की दुकानों के कब्जे को लेकर कशमकश के चलते तहसील के प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के आदेश पर अवैध कब्जा हटावाकर दुकानों को टेंडर प्रक्रिया में भाग लेने वाले दुकानदारों को सौंप दिया.

बताया गया है कि पिरान कलियर हज हाउस मार्ग स्थित दरगाह की चार अस्थाई दुकानों से कब्जा मुक्त कराने के लिए मंगलवार रुड़की अपर तहसीलदार मय पुलिस फोर्स के पहुंचे. दरगाह प्रशासन की ओर से हज हाउस मार्ग पर करीब दो वर्ष पूर्व टेंडर प्रक्रिया की गई थी, जिसमें टेंडर प्रक्रिया में भाग लेने वाले दुकानदारों के नाम टेंडर डाले गए थे. उन दुकानदारों ने दरगाह कार्यालय से पैसा जमा कर रसीद प्राप्त कर ली थी. लेकिन दरगाह प्रशासन इन दुकानों को कब्जा नहीं दिला पाया था.

नगर पंचायत वक्फ बोर्ड की भूमि पर अपना हक जता रहा था. दो दिन पूर्व प्रशासनिक अधिकारी दुकान खाली करने का एक दिन अल्टीमेट दे गए थे. कब्जाधारियों ने दुकानों से संबंधित कागज दिखाने के लिए रुड़की ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नमामि बंसल का दरवाजा खटखटाया था. ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रुड़की ने कागजों की गहनता से जांच करके अवैध रूप से कब्जाधारियों को हटाने के लिए के लिए आदेशित किया.

आज अपर तहसीलदार कृष्णानंद पंत ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रुड़की के आदेश पर कलियर पहुंचे और भारी पुलिस बल के साथ चारों दुकानों को कब्जा मुक्त कराकर टेंडरधारकों को दुकानों का कब्जा दिलाया.

अपर तहसीलदार कृष्णानंद पंत ने बताया कि ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रुड़की के आदेश पर चारों दुकानों को कब्जा मुक्त कराते हुए दूसरे पक्ष को कब्जा दिलाया गया है. यह दुकानें दरगाह की है, पूर्व में इन दुकानों को टेंडर प्रक्रिया के तहत छोड़ा गया था. जिनसे आज कब्जा मुक्त कराते हुए दूसरे पक्ष को कब्जा दिला दिया गया है.

हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत