वामपंथी कर रहे मनमानी करने की कोशिश…

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद(ABVP) ने वामपंथी विचारधारा वाले छात्र संगठनों की निंदा की है. ABVP ने वामपंथी विचारधारा से प्रेरित शिक्षक और छात्र संगठनों पर हमला बोला है.

ABVP  का कहना है कि वामपंथी संगठनों जिस तरह से DU में दुष्प्रचार और नकारात्मक विचारों को फैला रहे हैं, वो सिर्फ वामपंथियों की मानसिकता को छुपाने का एक तरीका है.

इससे वामपंथी संगठन ऐकेडेमिक क्षेत्र में भी मनमानी करने का प्रयास कर रहे हैं. वहीं लेफ्ट आइडियोलॉजी और लोकतांत्रिक प्रदर्शनों के खिलाफ अनास्था को स्पष्ट करता है.

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का साफतौर पर कहना है कि DU में स्टूडेंट्स को ऐकेडेमिक मामलों में भी हिस्सा लेना चाहिए. बीते दिनों ऐकेडेमिक काउंसिल में जिस तरह से बिना चर्चा के प्रस्तावों को मंजूरी देने की कोशिश हुई वो निंदनीय है.

ABVP के मीडिया इंचार्ज ने बताया कि हम अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, संवाद में पूर्णतया विश्वास रखते हुए किसी भी समस्या पर बातचीत से निष्कर्ष के पक्ष में है. 

ABVP के कार्यकर्ताओं ने बताया कि DU के छात्रों को असामाजिक तत्व कहने की कड़ी निंदा करती है औक डीटीएफ से विनम्र आग्रह करती है कि उनके विचार से सहमति ना रखने वाले छात्रों के प्रति भी उचित तथा सम्मानजनक व्यवहार रखें और अपना अलोकतांत्रिक रवैया बदलें .

ABVP के प्रदेश मंत्री सिद्धार्थ यादव ने कहा कि युवाओं का वामपंथियों द्वारा ब्रेनवाश करने के प्रयासों को हम सफल नहीं होने देंगे. DU में वामपंथी संगठनों का हिंसात्मक इतिहास रहा है पिछले ही सेमेस्टर हिंदू कॉलेज हो या डिपार्टमेंट ऑफ मैथमेटिकल साइंस में घटी घटनाएं इसका स्पष्ट उदाहरण हैं.

साथ ही पिछले कुछ वर्षों में नक्सलियों के साथ जिस तरह डीयू के कुछ प्रोफेसरों के संबंध उजागर हुए हैं. वह वामपंथियों के लिए अपना अलोकतांत्रिक तथा देशविरोधी चेहरा देखने हेतु सबसे स्पष्ट आईना है.

वामपंथियों की हिंदू विरोधी मानसिकता हमें अपने सिलेबस में स्वीकार नहीं है.

Leave a Comment

%d bloggers like this: