Jharkhand Mob Lynching- चोरी के शक में मुस्लिम युवक की पिटाई, मौत के बाद ये हुई कार्रवाई…

नई दिल्ली. झारखंड (Jharkhand) में एक मुस्लिम युवक के साथ रविवार को मॉब लिंचिंग (Mob Lynching) की घटना हुई है. खरसांवा जिले में चोरी के शक में एक युवक की बेरहमी से पिटाई की गई जिसके बाद उसकी मौत हो गई. भीड़ ने 18 घंटे तक युवक को जमकर पीटा.

22 साल के युवक को स्थानीय लोगों ने बुरी तरह पीटा और उसके बाद चोरी के शक में पुलिस (Police) के हवाले कर दिया गया.

ये घटना सरायकेला खारसवानंद में घटित हुई. पीड़ित की पहचान तबरेज (Tabrej) के तौर पर हुई है. उसे रविवार सुबह पहले सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया और बाद में उसे जमशेदपुर के टाटा अस्पताल (Tata Hospital) रेफर कर दिया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

इस मामले में रघुवर सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मामले में सरायकेला थाने के तत्कालीन थाना प्रभारी और ओपी प्रभारी को भी सस्पेंड किया गया है. इस मामले की जांच के लिए एसआईटी (SIT) की टीम का गठन किया गया है.

इस घटना के बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर निशाना साधा.

ओवैसी ने कहा कि मॉब लिंचिंग की घटनाएं नहीं रुक सकतीं क्योंकि बीजेपी और आरएसएस ने लोगों के दिमाग में मुस्लिमों के प्रति नफरत की भावना बढ़ा दी है. लोगों के दिमाग में ये बात सफलतापूर्वक बैठा दी गई है कि मुस्लिम आतंकी, देशद्रोही और गो-हत्यारे होते हैं.

झारखंड की इस घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. एक वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे एक शख्स तबरेज अंसारी को डंडे से मार रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, तबरेज को 18 जून को पुलिस को सौंपा गया था. उससे पहले भीड़ ने उसकी जमकर पिटाई की.

घटना को लेकर तबरेज के परिवार का कहना है कि ये सांप्रदायिक हमला था और उससे जबरन जय श्रीराम और जय हनुमान के नारे लगाने के लिए कहा गया.

झारखंड के मंत्री सीपी सिंह ने घटना पर कहा, ‘इन दिनों इस तरह की घटनाओं को भाजपा, आरएसएस, वीएचपी और बजरंग दल से जोड़ने का ट्रेंड चल पड़ा है. ये समय दोषारोपण का है. कोई कहां किस शब्द को जोड़ देगा ये कहना मुश्किल है. सरकार को जांच करानी चाहिए.

तबरेज पुणे में काम करता था. ईद की छुट्टी में अपने घर आया था. परिजनों ने तबरेज की बांध कर पिटाई करने का वीडियो भी पुलिस को सौंपा है.

ये है पूरा घटनाक्रम
17 जून को खरसावां के कदमडीहा निवासी तबरेज अंसारी को सरायकेला के धातकीडीह गांव के पास ग्रामीणों ने चोरी के आरोप में पकड़ लिया. उसकी पिटाई कर डाली.
18 जून को पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज कर तबरेज को जेल भेज दिया.
22 जून को जेल में तबीयत बिगड़ने पर उसे सरायकेला सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गयी.

3 thoughts on “Jharkhand Mob Lynching- चोरी के शक में मुस्लिम युवक की पिटाई, मौत के बाद ये हुई कार्रवाई…”

Leave a Reply

%d bloggers like this: