एक साथ उठीं 7 अर्थियाँ तो दहल उठा कोरिया

बेगूसराय

बेगूसराय के कोरिया में हुए सड़क हादसे में शुक्रवार की शाम सात लोगों की मौत के बाद कोरिया रात भर जगा रहा. पूरा बेगूसराय दहल उठा है. एक छोटे से मोहल्ले में हुई सात लोगों की मौत ने हर किसी को गमगीन कर दिया है.

गांव के किसी भी घर में चूल्हा नहीं जला. सात लोगों की मौत से बच्चे और बूढ़े सबों की भूख मर चुकी है. हादसे के बाद से ही लगातार जारी करुण क्रंदन देर रात पोस्टमार्टम के बाद घर पर लाश आने से और तेज हो गया.

शनिवार को जब गांव से एक साथ सात अर्थियां उठीं तो लोग चीत्कार कर उठे. परिजनों के दुख से पूरा इलाका दहल उठा है. मजदूर वर्ग की इस बस्ती के लोग कभी इस काले शुक्रवार को नहीं भूल सकेंगे कि रोज गुजरने वाले हजारों ट्रकों के बीच का चावल लदा एक ट्रक कुछ लोगों के लिए मौत बन कर आया.

दुर्घटना के बाद डीएम और एसपी पहुंचे तथा सभी मृतकों के परिजनों को आपदा राहत कोष से चार-चार लाख रुपया, परिवारिक लाभ योजना के तहत 20-20 हजार एवं कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत तीन-तीन हजार रुपया उपलब्ध करवाया.

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह तथा महागठबंधन के प्रत्याशी तनवीर हसन ने रात में ही परिजनों से मुलाकात कर सांत्वना दी. शनिवार की सुबह भाकपा प्रत्याशी डॉ कन्हैया कुमार कोरिया पहुंचे तथा मृतकों के अंतिम दर्शन कर परिजनों को ढांढस बंधाया.

हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र

%d bloggers like this: