50 हजार का इनामी रामबीर बावरिया पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार

नोएडा और बागपत पुलिस ने पचास हजार के इनामी कुख्यात रामबीर बावरिया को गुरुवार देर रात संयुक्त रूप से मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया. मुठभेड़ में बावरिया सहित दो सिपाही भी गोली लगने से घायल हुए हैं.

इनका इलाज अस्पताल में कराया जा रहा है. गिरफ्तार बदमाश हरियाणा के गुरुग्राम का पटोदी निवासी रामबीर बावरिया गिरोह का सरगना है. ये अपने साथियों के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश में लूट, डकैती व हत्या की घटना को अंजाम देता था. नोएडा एसटीएफ के इंचार्ज आर.के. पालीवाल को रात में मुखबिर से सूचना मिली कि रामबीर अपने साथी के साथ मोटरसाइकिल से मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना की ओर से बागपत आ रहा है.

इस पर उन्होंने अपनी टीम के अलावा बागपत क्राइम ब्रांच और दोघट थाना पुलिस के साथ मिलकर पुसारा बस स्टैंड पर चेकिंग अभियान चलाया. संदिग्ध नजर आने पर पुलिस ने उनकी मोटरसाइकिल रोकने का इशारा किया. इस पर वह भागने लगे.

पुलिस के पीछा करने पर बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी. इस पर पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। इसमें कुख्यात रामबीर पैर में गोली लगने से घायल हो गया तथा एसटीएफ के सिपाही मुकेश और देवदत्त भी घायल हुए. वहीं रामबीर का साथी भागने में सफल रहा.

आरोपी रामबीर के पास से एक बंदूक और कारतूस बरामद हुए हैं. घायल बदमाश को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उस पर बारह से अधिक मुकदमे दर्ज हैं. वहीं लखनऊ के चिनहट थाने से 50 हजार का इनाम घोषित है. रामबीर पर पूर्व में डकैती के दौरान हत्या के कई मामले जनपद लखनऊ, बाराबंकी, फर्रुखाबाद आदि में दर्ज हैं.

वह हत्या के आठ मामलों में वांछित चल रहा था. कई बार पुलिस से मुठभेड़ में वह चकमा देकर भागने में सफल रहा, लेकिन इस बार उसे धर दबोचा गया.

हिन्दुस्थान समाचार/सचिन

%d bloggers like this: